धोती पहन कर आधे घंटे के लिये आये, माहौल गरमा कर निकल गए तेजप्रताप

10.38 में आये और 11.08 में विधान सभा से निकल गये तेज प्रताप
वीरेंद्र यादव, पटना। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और महुआ के विधायक तेज प्रताप यादव लगातार चर्चा में रहे हैं। कभी विधायकी को लेकर तो कभी शादी को लेकर। अब तलाक की अर्जी को लेकर चर्चा में हैं। पिछले करीब एक माह से ‘लापता’ रहे तेज प्रताप कल पटना आये और आज विधान सभा के अंतिम दिन सत्र में हिस्सा लेने पहुंचे। अनायास तेज प्रताप के विधान सभा पहुंचते ही पत्रकारों के अफरा-तफरी मच गयी। विभिन्न नेताओं से इंटरव्यू कर रहे कई पत्रकार इंटरव्यू छोड़कर तेज प्रताप की गाड़ी के पीछे तेजी से लपके। हम भी तेज के पीछे तेजी से बढ़े। वीडियोग्राफर के पोर्टिको पहुंचते-पहुंचते तेज प्रताप विधान सभा भवन में प्रवेश कर गये। हम भी पीछे हो लिये। करीब 10.38 बजे तेज प्रताप विधान सभा पहुंचे।
धोती-कुर्ता और सैंडल पहनकर आये तेज प्रताप विपक्षी लॉबी में पहुंचे। एक विधायक के बगल वाली सोफा पर बैठे। लॉबी में कई विधायक मौजूद थे। एक-एक कर सभी विधायक तेज को अभिवादन करते हुए बाहर निकल गये। हम तेज से सामने वाले सोफे पर बैठ गये। थोड़ी देर में एक-एक पत्रकार आने लगे। कुछ ही मिनट में लॉबी पत्रकारों से भर गयी। कुछ अगल-बगल वाली सीट पर बैठे। इस बीच पत्रकार उनकी वृंदावन यात्रा, धोती-कुर्ता से लेकर माला तक की चर्चा करते रहे, लेकिन तेज प्रताप चुप रहे। एकाध पत्रकार धीमी आवाज में उनसे बातचीत भी कर रहे थे। तेज प्रताप का चेहरा एकदम भावशून्य व उतरा हुआ लग रहा था।

BiharKatha.Com

घंटी बजने के बाद तेज प्रताप सदन के लिए निकले। इसके साथ ही पत्रकार प्रेस दीर्घा की ओर बढ़े। हम भी दीर्घा में पहुंचे। तेज प्रताप अपनी सीट पर बैठे हुए थे। विधायकों के आने का सिलसिला जारी रहा। स्पीकर विजय कुमार चौधरी ने सदन में आने के बाद कार्यवाही शुरू की। इसके बाद विपक्षी विधायक अपनी सीट पर खड़ा होकर हंगामा करने लगे। इस दौरान तेज प्रताप बैठे रहे। हंगामे के साथ ही विधायक वेल में आने लगे। फिर भी तेज प्रताप अपनी जगह पर बैठे रहे। तेज प्रताप के सामने से गुजर रहे विधायक तेज प्रताप को अभिवादन कर आगे वेल में आ रहे थे। हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गयी।
हम दीर्घा से निकलकर सीधे विपक्षी लॉबी में पहुंचे। रास्ते में तेज प्रताप कहीं नजर नहीं आये। लॉबी में भी नहीं। तब तक गलियारे में नजर पड़ी। वे बाहर निकल रहे थे। गलियारे में विधायक मिलते रहे और अभिवादन करते रहे। इसी क्रम में तेज प्रताप पोर्टिको में पहुंचे। उनके साथ विधान सभा का एक कर्मचारी ही चल रहा था। विधायकों की भीड़ के बावजूद तेज प्रताप अकेले ही रहे, उनके साथ चलने के लिए कोई विधायक आगे नहीं आया।
पोर्टिको में खड़े तेज प्रताप अपनी गाड़ी का इंतजार कर रहे थे। थोड़ी देर में गाड़ी आयी। तेज प्रताप गाड़ी की ओर बढ़े। अब वे मीडिया वाले से घिरे हुए थे। कुछ सवालों का जवाब उन्होंने दिया, लेकिन हम सुन नहीं पाये। 11.08 बजे तेज प्रताप अपनी गाड़ी में सवार हुए और निकल लिये।
तेज प्रताप की विधान सभा में आधे घंटे की उपस्थिति ने माहौल को गरमा दिया था। हर तरह तेज प्रताप की चर्चा ही हो रही थी। उनसे जुड़ी खबर, धोती-कुर्ता, माला, टीका से लेकर भाव-भंगिमा ही चर्चा का विषय था। तेज प्रताप भले विधान सभा परिसर छोड़ गये थे, लेकिन परिसर में अपने नाम की चर्चा भी ‘फेंक’ गये थे।






Related News

  • नीतीश का बंगला प्रेम और बंगले पर राजनीति
  • उडान योजना की दूसरी सूची में आएगा साबेया का नाम
  • पप्पू यादव भी पडे पप्पू पांडे के पीछे, कार्रवाई नहीं होने पर बिहार बंद कराने की चेतावनी
  • धोती पहन कर आधे घंटे के लिये आये, माहौल गरमा कर निकल गए तेजप्रताप
  • नीतीश के गढ़ल घास पर डाका डालने की ‘भागवती साजिश’
  • गोपालगंज में बसपा नेताओं ने संगठन को मजबूत करने पर दिया बल
  • बिहारी राजनीति का ‘मच्छर पुराण’
  • गोपालगंज में मुसलमानों को चेता गए या डेरवा गए आरपीसी सिंह
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com