शिक्षा पद्धति में सुधार के बिना छात्रों की तकदीर नहीं बदल सकती : कुशवाहा

मुंगेर. केन्द्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने आज कहा कि शिक्षा पद्धति में सुधार के बिना गरीब छात्रों की तकदीर नहीं बदल सकती। श्री कुशवाहा ने यहां के नगर भवन में पार्टी की ओर से ‘शिक्षा में सुधार’ विषय पर आयोजित सम्मेलन में कहा कि बिहार में शिक्षा पद्धति में सुधार की जरुरत है। उन्होंने सरकारी प्राथमिक और मध्य विद्यालयों में मिड डे मील योजना के तहत खिचड़ी बनाने के काम को अविलंब दूसरी एजेंसी को सुपुर्द करने और शिक्षकों से केवल पढ़ाई का काम लेने की वकालत की। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि खिचड़ी बनाने के काम से शिक्षकों को जोड़ने के कारण प्राथमिक और मध्य विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता प्रभावित हो रही है। उन्होंने सरकारी विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की जरूरत बताई  और कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी सार्वजनिक रूप से सरकारी विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की वकालत कर  चुके  हैं।






Related News

  • मुजफ्फरपुर के मरीज को लगाया खाली ऑक्सीजन सिलेंडर, आनन-फानन में बची जान
  • छत्तीसगढ़, गुजरात और झारखंड ने मुख्यमंत्री राहत कोष में दिये पांच-पांच करोड़
  • शिवहर में राहत को लेकर प्रदर्शन कर रहे बाढ़ पीड़ितों ने किया पथराव
  • शिक्षा पद्धति में सुधार के बिना छात्रों की तकदीर नहीं बदल सकती : कुशवाहा
  • डीएम ने दिया सम्मान, तो मंत्री ने तोड़ी मर्यादा! डीएम की ही कुर्सी पर बैठ गए बिहार के श्रममंत्री!
  • बिहार में मनरेगा मजदूरों को भुगतान में विलंब होने पर मिलेगी क्षतिपूर्ति
  • घोटाले में नाम आने के बाद फरार है सुशील मोदी की बहन!
  • रवि किशन को दिल के करीब मानते हैं मनोज तिवारी
  • Comments are Closed