ये क्या! भाजपा सांसद ने कन्हैया कुमार को बताया राष्ट्रभक्त, विरोध में लगे नारे

बेगूसराय.अपने बयानों के लिए चर्चित भाजपा सांसद डॉ. भोला सिंह के जेएनयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार को राष्ट्रभक्त कहने के बाद भाजपा में खलबली मच गई है। कैलाशपति मिश्र की पुण्यतिथि पर शुक्रवार को दिनकर भवन में आयोजित भाजपा के सम्मान समारोह में एमएलसी रजनीश कुमार सिंह ने सांसद के बयान पर सवाल खड़े किए। जबकि सांसद के अपने बयान पर अड़े रहने से दोनों पक्ष के समर्थक आमने-सामने आ गए। हंगामा इतना बढ़ा कि कार्यक्रम समय से पूर्व ही समाप्त कर दिया गया।
बताते चलें कि सांसद ने गुरुवार को प्रेस वार्ता में जेएनयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार को राष्ट्रभक्त बताया था।
एमएलसी रजनीश कुमार ने आज मंच से ही सांसद के बयान पर प्रश्न कर दिए। उन्होंने कहा कि जिस कन्हैया को पीएम और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने देशद्रोही करार दिया है, उसे भाजपा के सांसद राष्ट्रभक्त कैसे कह सकते हैं? इसके साथ ही दर्शक दीर्घा में बैठे कुछ कार्यकर्ता सांसद विरोधी नारे लगाने लगे। इससे खिन्न सांसद मंच से जाने लगे। इस पर एक जिलाध्यक्ष ने मनाकर उन्हें रोका।
सांसद ने पूरी पार्टी पर खड़े किए सवाल
समारोह में जब सांसद डॉ. भोला सिंह के बोलने की बारी आई तो उन्होंने कन्हैया के मुद्दे पर पूरी पार्टी को ही आड़े हाथ ले लिया। सांसद ने कहा कि कन्हैया पर मेरा स्टैंड क्लियर है। अगर कन्हैया राष्ट्रद्रोही है तो सरकार उसे छुट्टा घूमने कैसे दे रही है? उसे जेल में क्यों नहीं डालती, जबकि पूरा तंत्र ही उनका है? सांसद के इतना कहते ही एक बार फिर हंगामा शुरू हो गया। बात इतनी बढ़ी कि आनन-फानन कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया।
शुरू से मंच पर थी कड़वाहट
बहरहाल बेगूसराय में भाजपा इस मुद्दे पर बंट गई है। एक गुट सांसद भोला ङ्क्षसह के साथ है तो दूसरा एमएलसी रजनीश कुमार के साथ। गुरुवार को सांसद ने एक संवाददाता सम्मेलन कर सिमरिया महाकुंभ पर भी प्रश्न उठाए थे। उन्होंने इसे कुछ लोगों के धन उगाही का जरिया करार दिया था। इसी प्रेस कान्फ्रेंस में सांसद ने कन्हैया को क्लीन चिट दी थी। एमएलसी रजनीश महाकुंभ सेवा समिति के महासचिव हैं। इधर, शुक्रवार को भाजपा जिलाध्यक्ष संजय कुमार सिंह के आग्रह पर दोनों नेता एक साथ मंच पर आए। इनपुट साभार जागरण






Related News

  • भाजपा के आंतरिक सर्वे में बिहार के 22 सांसदों में से 12 पर गिर सकती है गाज
  • क्या तेज-तेजस्वी में हैं आपसी लडाई! तेज प्रताप ने दिया जबरजस्त बयान
  • एनडीए की डिनर डिप्लोमेसी को उपेंद्र कुशवाहा ने किया ना, भाजपा भी नहीं दे रही भाव!
  • बिहार सरकार ने ‘चपरासी’ शब्द पर गलाया बैन, गु्रप ‘डी’ के पद खत्म
  • झारखंड विधानसभा 2005 में उड़ा था लोकतंत्र का मजाक
  • कर्नाटक का असर बिहार की राजनीति पर, कर्नाटक की तर्ज पर बिहार में आरजेडी, गोवा में कांग्रेस सरकार बनाने का पेश करेगी दावा
  • नीतीश कुमार का दांव ही निर्णायक है
  • गोपालगंज के जनक राम ने भभुआ में ब्राह्मणों को शर्मशार होने से बचाया!
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com