राजद और भाजपा की जुबानी जंग पर नीतीश ने कहा, ज्यादा बोलने से गला होता है खराब

बिहार कथा ब्यूरो. पटना. राजद और भाजपा के बीच जारी वाकयुद्ध पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। शनिवार को यहां एक कार्यक्रम के बाद पत्रकारों के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कुछ भी बोलने से इंकार करते हुए कहा, ‘ज्यादा बोलने पर गला खराब हो जाता है।’ उल्लेखनीय है कि बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने आरजेडी चीफ लालू प्रसाद के परिवार पर गलत ढंग से जमीन लिखवा लेने का आरोप लगाया है। कार्यक्रम में शामिल उपमुख्यमंत्री और आरजेडी चीफ के छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने भी इस बारे में कोई भी टिप्पणी करने से इंकार करते हुए केवल इतना कहा कि आरजेडी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा इस बारे में सब कुछ कल ही मीडिया को बता चुके हैं और वही उनका जवाब है। हालांकि, मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ने इस बाबत कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने सुशील पर हमला करते हुए कहा कि वह किसी राजनीतिक अजेंडे के तहत इस तरह का आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दिन राजनीतिक बयानबाजी करने के बजाय सुशील मोदी को संबंधित प्राधिकार के समक्ष अपनी बात रखनी चाहिए। चौधरी ने कहा कि हम सुशील मोदी द्वारा तय किए गए अजेंडे पर क्यों काम करें। बिहार की जनता के लिए काम करने के लिए हमारा अपना अजेंडा है। उन्होंने प्रदेश में सत्तासीन महागठबंधन में किसी प्रकार की दरार से भी इनका किया है और कहा कि इसमें चट्टानी एकता है।
ज्ञात हो कि सुशील मोदी ने लालू प्रसाद परिवार पर गलत ढंग से लोगों से जमीन लिखवा लेने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से लालू के दोनों बेटों तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की है। इस बीच सुशील ने मनोज झा द्वारा उनकी पटना और राज्य के बाहर की संपत्ति को लेकर आरोप लगाए जाने को गलत ठहराते हुए कहा कि वह झा के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेंगे।






Related News

  • गोपालगंज में सम्मेलन के नाम इस तरहसे अतिपिछडों को ठग रही है जदयू!
  • भाजपा के आंतरिक सर्वे में बिहार के 22 सांसदों में से 12 पर गिर सकती है गाज
  • भाजपा के आंतरिक सर्वे में बिहार के 22 सांसदों में से 12 पर गिर सकती है गाज
  • क्या तेज-तेजस्वी में हैं आपसी लडाई! तेज प्रताप ने दिया जबरजस्त बयान
  • एनडीए की डिनर डिप्लोमेसी को उपेंद्र कुशवाहा ने किया ना, भाजपा भी नहीं दे रही भाव!
  • बिहार सरकार ने ‘चपरासी’ शब्द पर गलाया बैन, गु्रप ‘डी’ के पद खत्म
  • झारखंड विधानसभा 2005 में उड़ा था लोकतंत्र का मजाक
  • कर्नाटक का असर बिहार की राजनीति पर, कर्नाटक की तर्ज पर बिहार में आरजेडी, गोवा में कांग्रेस सरकार बनाने का पेश करेगी दावा
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com