नीतीश की ‘डिनर’ डिप्लोमेसी, भोज में जुटे भाजपा के कई नेता

पटना। आठ साल बाद भाजपा और जदयू के बीच दूरियां मिटती नजर आईं। सोमवार को नीतीश कुमार के भोज में भाजपा के कई दिग्गजों के जमावड़े से ऐसा ही प्रतीत हुआ। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सरकारी आवास पर आयोजित भोज से भाजपा के आठ साल पुराने जख्म को मरहम लगा। साल 2009 में नीतीश कुमार ने तमाम भाजपा के नेताओं को अपने सरकारी आवास एक अन्ने मार्ग पर भोज का न्योता दिया था, पर अखबारों में छपी एक तस्वीर ने भोज का जायका बिगाड़ दिया। उसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भोज को रद्द कर दिया। अब आठ साल बीतने के बाद, नीतीश कुमार ने एक बार फिर भाजपा नेताओं को भोज पर आमंत्रित किया। इस बात को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई थी कि भाजपा के लोग इस भोज में शामिल होंगे या नहीं। भाजपा विधानमंडल दल के नेता सुशील मोदी सहित पार्टी के तमाम विधायक नीतीश के आमंत्रण पर एक अन्ने मार्ग पहुंचे और भोज का मजा लिया। भाजपा के आलावा कांग्रेस, राजद और वाम दलों के नेताओं को भी मुख्यमंत्री का न्योता मिला था और सभी दलों के नेता कमोबेश भोज में शिरकत करने पहुंचे।with thanks from http://hindi.eenaduindia.com






Related News

  • भाजपा के आंतरिक सर्वे में बिहार के 22 सांसदों में से 12 पर गिर सकती है गाज
  • क्या तेज-तेजस्वी में हैं आपसी लडाई! तेज प्रताप ने दिया जबरजस्त बयान
  • एनडीए की डिनर डिप्लोमेसी को उपेंद्र कुशवाहा ने किया ना, भाजपा भी नहीं दे रही भाव!
  • बिहार सरकार ने ‘चपरासी’ शब्द पर गलाया बैन, गु्रप ‘डी’ के पद खत्म
  • झारखंड विधानसभा 2005 में उड़ा था लोकतंत्र का मजाक
  • कर्नाटक का असर बिहार की राजनीति पर, कर्नाटक की तर्ज पर बिहार में आरजेडी, गोवा में कांग्रेस सरकार बनाने का पेश करेगी दावा
  • नीतीश कुमार का दांव ही निर्णायक है
  • गोपालगंज के जनक राम ने भभुआ में ब्राह्मणों को शर्मशार होने से बचाया!
  • Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com