कुशीनगर बौद्ध उत्सव में दिखा हथुआ महाराज का जलवा

कुशीनगर बौद्ध उत्सव में आकर्षण का केन्द्र बना हथुआ राज परिवार

सुनील कुमार मिश्र, हथुआ, गोपालगंज। कुशीनगर में माघी पूर्णिमा पर थाई मंदिर के तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय समाजिक, सांस्कृतिक व आध्यात्मिक आयोजन के क्रम में हथुआ राज परिवार मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुआ। थाई मंदिर से निकाले गए विशाल पवित्र बुद्ध धातु शोभा यात्रा में हथुआ राज परिवार के सदस्य बग्घी पर सवार होकर शामिल हुए। शोभायात्रा में हथुआ राज परिवार के महाराज बहादुर मृगेन्द्र प्रताप साही, महारानी पूनम साही, युवराज कौस्तुभ मणि प्रताप साही, युवरानी विदिशा साही लोगों के आकर्षण का केन्द्र बने। कुशीनगर में सड़क किनारे हजारों श्रद्धालु, स्कूली बच्चें, एनसीसी के कैडेटों ने खड़े होकर राज परिवार का स्वागत किया। शोभायात्रा गाजे-बाजे के साथ मुख्य महापरिनिर्वाण मंदिर पहुंचे। जहां हथुआ राज परिवार, बौद्ध भिक्षुओं, थाईलैंड से आए मेहमानों व पर्यटकों ने विशेष पूजन किया। इसके पूर्व थाईलैंड के राजदूत ने चैत्य में बुलेट प्रूफ कांच में बंद भगवान बुद्ध की अस्थि का ताला खोला और अस्थि को शोभा यात्रा में बने रथ पर कांच के बने सुशोभित कांच में रखा गया। मंदिर से निकली शोभायात्रा में थाई कलाकार की टोलियां नृत्य कर रहे थे। वहीं 50 रथों पर बौद्ध भिक्षु व थाईलैंड सरकार के विशेष अतिथि चल रहे थे। बौद्ध धुन से संपूर्ण कुशीनगर का वातावरण बुद्धमय हो गया था।
हथुआ राज का 65 सदस्यीय दल हुआ शामिल

पवित्र बुद्ध शोभायात्रा में हथुआ राज का 65 सदस्यीय दल भी शामिल हुआ। राज परिवार के नेतृत्व में दल आकर्षक परिधान व साफे के साथ शोभायात्रा में लोगों के आकर्षण का केन्द्र बना रहा। जगह-जगह लोगों ने शोभायात्रा का स्वागत किया। हथुआ राज परिवार व बग्घी, सिंपनी के साथ लोगों ने खूब सेल्फी ली। कार्यक्रम में राज परिवार के इस्टेट मैनेजर एसएन शाही, इंपीरियल के निदेशक संजय कुंवर, भाष्कर राय, चंदन कुमार, अतुल राय, संजय ठाकुर, प्रशांत सिंह, रंजीत कुमार, सुषमा पांडेय, मुस्कान खातून,बीएड कॉलेज के प्राचार्य डॉ आलोक तिवारी, रजनीश कुमार आदि शामिल हुए। इसके अलावा हथुआ गोपाल मंदिर के मुख्य पुजारी आशुतोष तिवारी के नेतृत्व में आधा दर्जन पुजारियों की टीम भी कार्यक्रम में शामिल हुई। संध्या में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम व थाई व्यंजनों के भोज में भी राज परिवार शामिल हुआ।
सुरक्षा के थे पुख्ता प्रबंध

तीन दिवसीय कार्यक्रम के दौरान कुशीनगर में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे। कार्यक्रम में हजारों भिक्षु व उपासक सड़कों पर निकले। जिसके चलते सभी चौक-चौराहों पर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे। कुशीनगर एसपी के नेतृत्व में प्रशासन ने कड़ी चौकसी बरती। साथ ही ड्रोन कैमरे के माध्यम से शोभायात्रा पर कड़ी निगरानी रखी गयी। व्यवस्था में पी सोंग पोंग, पी सोंग क्रान,प्रोंग्रिथ श्रीस्मिथ, अंबिकेश त्रिपाठी, ओमप्रकाश कुशवाहा, विवेक गोंड़ सहित सैकड़ों स्वयं सेवक थे।
क्या कहते हैं महाराजा

इस सामाजिक आध्यात्मिक व सांस्कृतिक आयोजन में शामिल होना सुखद अनुभव रहा। इस तरह के आयोजन से भारत-थाई के बीच संबंध मजबूत होंगे। पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही दोनों देशों की सांस्कृतिक विरासत का आदान-प्रदान भी होगा। -महाराज बहादुर मृगेन्द्र प्रताप साही, वंशज, हथुआ राज






Related News

  • कुशीनगर बौद्ध उत्सव में दिखा हथुआ महाराज का जलवा
  • बिहार: थाने में अनोखी शादी, पुलिसवाले बाराती,राह चलती महिलाओं ने मंगलगीत गाया, राहगीरों ने दिया आशीर्वाद
  • जानिये क्या हुआ जब हथुवा में जब हेलिकॉप्टर से पहुंचा दुल्हा
  • बिहार की इस मुस्लिम डीएम को हर कोई कर रहा सलाम
  • देश का पहला किडनी डायलिसिस हुआ था हथुआ महाराज गोपेश्वर साही का
  • जय बिहार : एक विवाह ऐसा भी : समाज को संदेश देने वाली अनोखी शादी
  • सारण की बेटी ने शत्ताक्षी ने जीता मिस इंडिया 2nd रनरअप का खिताब
  • गोपालगंज की कुमारी दुर्गा शक्ति बनी डी. एस. पी.
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com