बालू के बडे करोबारी ने तेज प्रताप की वियाह में शान बढाने के लिए दियरा से भिजवाये घोडे

बालू के बडे करोबारी ने तेज प्रताप की वियाह में शान बढाने के लिए दियरा से भिजवाये घोडे
पटना। लालू प्रसाद के बेटे व सूबे के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव की शादी में भोजपुर के घोडे़ शान बढ़ायेंगे। भोजपुर के करीब तीन दर्जन घोड़े द्वार पूजा के समय घुड़दौड़ करेंगे। इसके लिए जिले के दियारे इलाके से घोड़े भेजे गए हैं। सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार की रात बड़हरा से ट्रकों से घोड़ों को पटना भेजा गया। बताया जाता है कि पटना के एक बड़े बालू कारोबारी द्वारा शादी के लिए घोड़ों की व्यवस्था की गयी है। इसके लिए दियारे इलाके के अधिकतर घोड़ों को पहले से ही बुक कर लिया गया है। शुक्रवार की देर शाम लाला के टोला से घोड़ों को पटना भेज दिया गया। बताया जाता है कि दियारे के लोग घोड़ों के शौकीन होते हैं। उनके पास अच्छी नस्ल के घोड़े पाये जाते हैं। इसे देखते हुए शादी में भेजने के लिए दियारे के घोड़ों की व्यवस्था की गयी है। बता दें कि पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादप की शादी आज शनिवार को पटना में होने वाली है। शादी को लेकर राजद समर्थकों में काफी उत्साह है। राजद सुप्रीमों के परिवार के साथ ही राजद समर्थक नेता व कार्यकर्ता भी शादी समारोह को भव्य व यादगार बनाने में जुटे हैं। इसके लिए कई तरह की व्यवस्थाएं भी की जा रही है।
पीली धोती व पगड़ी में दिखेंगे घुड़सवार
राजद सुप्रीमो के बेटे की शादी के लिए कार्यकर्ताओं द्वारा काफी तैयारी की गयी है। शादी में शामिल होने जा रहे घुड़सवारों के लिए पीले कपड़ों की व्यवस्था है। सूत्रों के अनुसार सभी घुड़सवार पीले रंग के ड्रेस में रहेंगे। इसके लिए सभी को पहले ही पीली धोती व पगड़ी दे दी गयी है। शादी में जाने के लिए सभी को उपहार भी दिये गये हैं






Related News

  • बालू के बडे करोबारी ने तेज प्रताप की वियाह में शान बढाने के लिए दियरा से भिजवाये घोडे
  • तेजप्रताप के हल्दी की रस्म में शामिल हुआ हथुआ राज परिवार, लालू ने कहा “मिलो हमारे राजा से “
  • मैथिली को झा झा एक्सप्रेस कहिये …
  • टूट रहा सिमुलतला को नेतरहाट बनाने का सपना
  • फर्श से अर्श तक पहुंचने वाले शेर शाह और हेमू में समानता
  • अकबरनामा लिखने वाला अबुल फज़ल क्या हिन्दू था ?
  • सासाराम का वह अदना रौनियार जो बदल रहा था भारत की तकदीर लेकिन….
  • अद्भुत और अविश्वसनीय मनु स्मृति :सभ्यता के प्रारंभिक दौर में ही किया गया एक सुनियोजित षड्यंत्र
  • Leave a Reply

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com