कोर्ट में चपरासी थे जगदीश साह, बेटी बनी सिविल जज

bhagalpur resident and daughter of peon juli kumari become judge, get success in 29th Bihar Judicialभागलपुर. भागलपुर सिविल कोर्ट में कार्यरत चतुर्थवर्गीय कर्मचारी जगदीश साह की पुत्री जूली कुमारी 29 वीं बिहार न्यायिक सेवा परीक्षा में सफलता पाकर सिविल जज बन गई हैं। रिजल्ट आने के बाद जूली के मायके व ससुराल में खुशी से लोग झूम उठे। बरारी के मायागंज मोहल्ले में पली-बढ़ी जूली की दृढ़ इच्छाशक्ति ने उन्हें सफलता दिलाई है। जूली ने कहा कि गवर्नमेंट हाई स्कूल से 2004 में मैट्रिक परीक्षा पास करने के बाद झुनझुनवाला कॉलेज से वर्ष 2006 में आईकॉम की परीक्षा पास की। उसके बाद टीएनबी लॉ कॉलेज में लॉ की पढ़ाई शुरू की। वर्ष 2011 में लॉ की परीक्षा पास करने के बाद बिहार न्यायिक सेवा की परीक्षा की तैयारी में लग गई। इसी बीच वर्ष 2009 में कजरैली के केलापुर गांव में सुबल कुमार से शादी हुई। जूली के पति दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करते हैं। साधारण परिवार में जन्मी जूली को पढ़ाई से बहुत लगाव था और सफलता पाने तक पीछे मुड़कर नहीं देखी। उन्होंने बताया कि पहले ही चांस में न्यायिक सेवा परीक्षा में पास की है। इसी साल 24 से 28 मार्च के बीच न्यायिक सेवा की परीक्षा हुई थी। सफलता पाने को लेकर वह आश्वस्त थी और रिजल्ट का इंतजार कर रही थी। जूली ने कहा कि कड़ी मेहनत व लगन के साथ बड़ों के आशीर्वाद से सफलता मिली है।






Related News

  • थावे मंदिर पर कायम रहेगा हथुआ राज का स्वामित्व
  • बिहार के चीफ जस्टिस का ऐसा जुनून, ढाई घंटे में सुनाए 300 फैसले, रचा इतिहास
  • सोनपुर मेला: मिलन स्थल पर तय होते रिश्ते, मंदिरों में लेते हैं सात वचन
  • भैंस से भी कम कीमत पर दूसरे राज्यों में बेची जा रही हैं बिहार की लडकियां!
  • 165 वर्षों से आस्था व वैभव का प्रतीक बना हथुआ का गोपाल मंदिर
  • कोर्ट में चपरासी थे जगदीश साह, बेटी बनी सिविल जज
  • बिहार में नया नवेला ऐसा आईएएस, जिसका ट्रांसफर रूकवाना चाहती है पब्लिक, आखिर क्यों!
  • बिहार में बांस की खेती के लिए बंबू सीटम प्लांट का प्रस्ताव
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com