शादी कर बीवियों को बेच देता था बिहार का यह शख्स

12 साल में की 11 शादियां, जलेबिया पड़ी
पटना. भागलपुर में कहलगांव से सटे पकड़तल्ला गांव निवासी मो. कमाल के 36 वर्षीय बेटे अली ने तो सच में कमाल ही कर दिया है। पिछले 12 वर्षों में मोहम्मद अली ने 11 लड़कियों को इश्क के जाल में फंसाया और निकाह किया। दो-चार माह अपने साथ रखने के बाद वह अपनी बीवी को अलीगढ़ में बेच देता था। इन्हीं में से एक बीवी जिलेबिया को भी अली ने बेच दिया था। लेकिन जिलेबिया तीन सितंबर को किसी तरह अलीगढ़ से अपने घर कहलगांव पहुंच गई और फिर अली की खोज शुरू हुई। अंतत: मंगलवार की अहले सुबह घोर मशक्कत के बाद जिलेबिया ने अली को कहलगांव रेलवे स्टेशन परिसर में धर-दबोचा। फिर उसे पकड़ कर अपने गांव ले गयी, जिसके बाद ग्रामीणों ने उसकी जमकर पिटाई की।
पंचायती में अन्य शादी किये लड़कियों की खोज खबर ली गयी, तब उसका भंडा फूट गया और  अली ने ग्रामीणों के कब्जे में जाते ही डर के मारे अपना जुर्म कुबूल लिया। उसने अपनी सभी शादी व पत्नियों के बेचने की बात स्वीकार की। ग्रामीणों ने उसे कहलगांव पुलिस के हवाले कर दिया है। जिलेबिया की शिकायत पर मोहम्मद अली के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करते हुए उसे न्यायिक हिरासत में भागलपुर भेज दिया गया है।
इश्क व धोखे के जाल में फंसी प्रखंड स्थित महेशामुंडा गांव की रहनेवाली 25 वर्षीय जिलेबिया ने बताया कि मुझे भी पहले शौहर ने छोड़ दिया था। इकलौती बेटी शहनाज साथ रहती है। बेटी की चिंता व अकेलापन बोझ बन गया था। इसीलिए मैं अली की बातों में फंस गयी। तीन साल पूर्व निकाह हुआ और निकाह के बाद अली कमाने की बात कह कर मुझे अलीगढ़ ले गया। वहां उसने मुझे बेच दिया। वहीं मुझे जानकारी मिली कि पूर्व में भी अली ने अपनी कई बीवियों को यहां लाकर बेचा है। मैं किसी तरह वहां से भाग गयी। मुझे पता था कि अगला शिकार करने अली फिर कहलगांव ही आयेगा। सपरिवार उसकी तलाश में लगी रही। इस बीच अली ने डोली नाम की लड़की से हाल ही में शादी की।
धीरज के पास जिलेबिया को बेचा था : अली
मोहम्मद अली ने अपनी बीवियों का नाम शहनाज, छोटकी, मोना, शाहिद, जिलेबिया, उषा ऊर्फ डोली बताया है। ग्रामीणों का कहना है कि इसके अलावा भी अली ने पांच शादियां की हैं। अली ने गत 12 वर्षों में सभी बीवी को 30 से 40 हजार रुपये में अलीगढ़ में बेचा है। अली ने यह स्पष्ट किया कि वह कहलगांव के आस-पास ही शिकार की तलाश करता था। जिलेबिया को उसने 40 हजार में अलीगढ़ के धीरज के पास बेच दिया था। धीरज ने ही बताया कि घर बंधक रख कर उसने जिलेबिया को खरीदा था। फिलहाल अली डोली के साथ कहलगांव से सटे पकड़तल्ला स्थित अपने घर में रह रहा था। जिलेबिया को आशंका है कि उसे भी कुछ दिनों के बाद अली बेच देता। स्रोत साभार : जागरण






Related News

  • तो क्या बिहार के रास्‍ते काठमांडू भागी हनीप्रीत!
  • गोपालगंज : युवक को दौड़ा – दौडा कर पिटा
  • गोपालगंज : पिता बना अपने ही 8 दिन के मासूम बेटे का हत्यारा
  • सिवान : पेट्रोल पम्प कर्मी को घायल कर 80 हजार की लुट
  • जदयू में शोक की लहर, जदयू नेता की गोली मार अपराधियों ने की हत्या…
  • सिवान : नवविवाहिता की हत्या कर शव को दफनाया पिता ने कराई प्राथमिकी दर्ज
  • पुलिस की नौकरी ज्वाइन करने से पहले लड़की की तेजाब डाल कर हत्या
  • क्रांतिकारी बाबूकुंवर सिंह के इलाके से करोड़ों का गांजा जब्त
  • Comments are Closed