हाय रे बिहार! रास्ते पर बनाई ‘नफरत’ की दीवार, पुलिस ने कहा-जल्द तोड़ो

हाय रे बिहार! रास्ते पर बनाई ‘नफरत’ की दीवार, पुलिस ने कहा-जल्द तोड़ो
मुजफ्फरपुर. (जागरण से साभार). कांटी अंचल क्षेत्र के दामोदरी गांव में बीच सड़क पर 60 फीट लंबी दीवार खड़ी करने का मामला सोमवार को भी नहीं सुलझा। सीओ, स्थानीय जनप्रतिनिधियों की पहल के बाद भी सड़क से ‘नफरत’ की दीवार नहीं हटाई गई। सीओ ने चेतावनी दी है कि 24 घंटे में दीवार नहीं तोड़ी गई तो पुलिस कड़ी कार्रवाई करेगी। वे अपने सामने दीवार तोड़वाएंगे।  दामोदरी गांव निवासी चार भाइयों मो. सुलेमान, मो. जुमराती अंसारी, मो. सुबेजान तथा मो. उलफत अंसारी ने कुछ दिन पहले गांव की सड़क को अपनी निजी जमीन बताते हुए दीवार बना आधी सड़क घेर ली। इससे तकरीबन 11 फीट चौड़ी सड़क आधी हो गई और दो दर्जन परिवारों का रास्ता बंद हो गया। चारों भाइयों का कहना था कि वे लोग बाहर रखकर कमाते थे, उस समय ग्रामीणों ने बिना लिखित सहमति उनकी जमीन पर सड़क बना ली।
2001 में हुई थी ईंट सोलिंग
ग्रामीणों की शिकायत पर पानापुर ओपी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की तो अधिकारियों तक शिकायत पहुंची। इसके बाद कांटी सीओ दिलीप कुमार ने हल्का कर्मचारी को जांच का जिम्मा सौंपा। जांच में पाया कि पुराने नक्शे में सड़क है, जबकि नये में नहीं। 2001 में तत्कालीन मुखिया जियाउल हक अंसारी ने पंचायत की योजना से सड़क पर मिट्टीकरण तथा ईंट सोलिंग का काम कराया था।
जिलाधिकारी के निर्देश पर सीओ सड़क कब्जा मुक्त करने के लिए रविवार को पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। दोनों पक्षों के साथ अन्य लोगों से बात की। जदयू प्रखंड अध्यक्ष के अलावा उपमुखिया और सरपंच पति सहित अन्य ने भी पहल की। कब्जा नहीं हटाने पर कार्रवाई की चेतावनी दी गई। आपसी बात और पुलिस की सख्ती के बाद चारों भाई मान गए।
दीवार तोडऩे की बात कही और कल कुछ हिस्सा तोड़ा भी। बची दीवार आज मजदूर लगाकर तोड़वानी थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। सड़क पर कब्जा के चलते स्थानीय लोगों में आक्रोश है।
कांटी सीओ दिलीप कुमार का कहना है कि ग्रामीणों के बीच बैठक में दीवार तोडऩे पर सहमति बनी है। इसके लिए 24 घंटे का समय दिया गया है। अगर ऐसा नहीं होता है तो पुलिस दीवार तोड़वाएगी। साथ ही आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई होगी।





Related News

  • गोपालगंज में खुला रोटी बैंक
  • हथुआ में हथियार के बल पर 4 लाख की लूट
  • खुद बीमार हो गया तिरबिरवां पंचायत का स्वास्थ्य केन्द्र
  • महिलाओं की बदहाली के खिलाफ सावित्री बाई फुले ने फूंका था क्रांति का बिगुल
  • गोपालगंज के पं दीनदयाल स्टेडियम पर लगी कुव्यवस्था की डायन !
  • जयंती पर याद किये गए मौलाना मजहरुल हक
  • कमला राय कॉलेज में कुव्यवस्था के खिलाफ छात्रों ने प्राचार्य का पुतला फूंका
  • दर्दनाक! मां के अंतिम संस्कार को बेटी ने भीख मांग जुटाए पैसे
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com