सासामुसा के मिल में हर दिन हो रही थी 25 हजार क्विंटल उख की पेराई, अब हरखुआ मिल में जाएगा वहां का गन्ना

बिहार कथा, गोपालगंज. कुचायकोट थाने के सासामूसा चीनी मिल में हर दिन 24 से 25 हजार क्विंटल गनने की आवक थी. हादसे के बाद यह मिल बंद कर दिया गया है.इससे किसानों को नुकसान न हो इसके लिए सासामुसा आने वाले गन्ना ट्रकों को गोपालगंज के हरखुआ चीनी मिल की ओर डायवर्ट कर दिया गया है. गोपालगंज के गन्ना पदाधिकारी शंकर नारायण लाल ने बताया कि सासामुसा मिल हादसे के बाद वह मिल बंद हो गया है, पता नहीं कब तक चालू होगा, लेकिन इससे किसानों को क्षति न हो, इसलिए सासामुसा की ओर पेराई के ​लिए आने वाले गन्ना वाहनों को गोपालगंज के हरखुआ मिल में व्यवस्था की गई है.इस प्रकरण में माले के नेताओं ने कहा कि सासामूसा मिल पूर्व से ही जर्जर अवस्था में है। मिल चलने लायक नहीं रहने के बाद भी इसे चलाया जा रहा था। वहीं मजदूरों को 130 रुपए से 160 रुपए की दैनिक मजदूरी दी जाती थी। मिल के जर्जर स्थिति में रहने के कारण रस की टंकी फट गई।

यह भी पढें
सासाामुसा मिल हादसा : गोरखपुर में जिंदगी और मौत के बीच झुल रहे हैं दो घायल, चल रही है केवल धुकधुकी

जनक राम ने लोकसभा में उठाया सासामुसा मिल हादसे का मुद्दा, कहा- मिल मालिक के खिलाफ दर्ज हो हत्या का केस, मिले 20-20 लाख का मुआवजा

जो मिल चलाने लायक नही थी, उसे चला कर मुनाफा कमा रहा था सासामुसा का मिल मालिक

 






Related News

  • इस तरह भाजपा में एक गैंग के शिकार बनें जनकराम और ऐसे हुई डा सुमन की जदयू में एंट्री
  • लोकसभा चुनाव 2019: बिहार के सुशासन नगर में ‘लालटेन’ ही फैला रही है रौशनी
  • आरक्षण बचाने व 13 प्वाइंट रोस्टर के खिलाफ हथुआ में विरोध प्रदर्शन
  • हथुआ के गोपश्वर कॉलेज का नाम बदला, अब लॉ और पत्रकारिता की भी होगी पढाई
  • राज्यपाल के आगमन को लेकर सजा हथुआ पैलेस
  • इंस्पेक्टर विरेन्द्र कुमार को मिली हथुआ थानाध्यक्ष की कमान
  • जानिये क्या हुआ जब हथुवा में जब हेलिकॉप्टर से पहुंचा दुल्हा
  • मीरगंज के आलम हॉस्पीटल में सैनिकों के परिजनों का होगा मुफ्त इलाज
  • Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com