सासामुसा के मिल में हर दिन हो रही थी 25 हजार क्विंटल उख की पेराई, अब हरखुआ मिल में जाएगा वहां का गन्ना

बिहार कथा, गोपालगंज. कुचायकोट थाने के सासामूसा चीनी मिल में हर दिन 24 से 25 हजार क्विंटल गनने की आवक थी. हादसे के बाद यह मिल बंद कर दिया गया है.इससे किसानों को नुकसान न हो इसके लिए सासामुसा आने वाले गन्ना ट्रकों को गोपालगंज के हरखुआ चीनी मिल की ओर डायवर्ट कर दिया गया है. गोपालगंज के गन्ना पदाधिकारी शंकर नारायण लाल ने बताया कि सासामुसा मिल हादसे के बाद वह मिल बंद हो गया है, पता नहीं कब तक चालू होगा, लेकिन इससे किसानों को क्षति न हो, इसलिए सासामुसा की ओर पेराई के ​लिए आने वाले गन्ना वाहनों को गोपालगंज के हरखुआ मिल में व्यवस्था की गई है.इस प्रकरण में माले के नेताओं ने कहा कि सासामूसा मिल पूर्व से ही जर्जर अवस्था में है। मिल चलने लायक नहीं रहने के बाद भी इसे चलाया जा रहा था। वहीं मजदूरों को 130 रुपए से 160 रुपए की दैनिक मजदूरी दी जाती थी। मिल के जर्जर स्थिति में रहने के कारण रस की टंकी फट गई।

यह भी पढें
सासाामुसा मिल हादसा : गोरखपुर में जिंदगी और मौत के बीच झुल रहे हैं दो घायल, चल रही है केवल धुकधुकी

जनक राम ने लोकसभा में उठाया सासामुसा मिल हादसे का मुद्दा, कहा- मिल मालिक के खिलाफ दर्ज हो हत्या का केस, मिले 20-20 लाख का मुआवजा

जो मिल चलाने लायक नही थी, उसे चला कर मुनाफा कमा रहा था सासामुसा का मिल मालिक

 






Related News

  • बीच राह में फंसी हथुआ-भटनी रेलखंड परियोजना
  • मुकेश पांडेय के हाथों रिमॉडलिंग हेल्थ सेंटर जनता को समर्पित
  • हमरा मालिक के बोलवा दी ए एमपी साहेब, राउर जीनगी भर एहसान ना भूलेम !
  • मुखिया पति के मर्डर पर आक्रोशित हुए हथुआ प्रखंड के जनप्रतिनिधि
  • गोपालगंज : तीन साल पहले भी उपेंद्र सिंह को मारी थी गोली, तब बच गए थे
  • बेगूसराय में एससी एसटी कानून के खिलाफत में आया सवर्ण समाज
  • गोपालगंज : बरौली कोल्ड स्टोरेज ने किसानों को दिया धोखा
  • छठिहार महोत्सव : कान्हा की भक्ति में डूबा हथुआ शहर
  • Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com