सासामुसा के मिल में हर दिन हो रही थी 25 हजार क्विंटल उख की पेराई, अब हरखुआ मिल में जाएगा वहां का गन्ना

बिहार कथा, गोपालगंज. कुचायकोट थाने के सासामूसा चीनी मिल में हर दिन 24 से 25 हजार क्विंटल गनने की आवक थी. हादसे के बाद यह मिल बंद कर दिया गया है.इससे किसानों को नुकसान न हो इसके लिए सासामुसा आने वाले गन्ना ट्रकों को गोपालगंज के हरखुआ चीनी मिल की ओर डायवर्ट कर दिया गया है. गोपालगंज के गन्ना पदाधिकारी शंकर नारायण लाल ने बताया कि सासामुसा मिल हादसे के बाद वह मिल बंद हो गया है, पता नहीं कब तक चालू होगा, लेकिन इससे किसानों को क्षति न हो, इसलिए सासामुसा की ओर पेराई के ​लिए आने वाले गन्ना वाहनों को गोपालगंज के हरखुआ मिल में व्यवस्था की गई है.इस प्रकरण में माले के नेताओं ने कहा कि सासामूसा मिल पूर्व से ही जर्जर अवस्था में है। मिल चलने लायक नहीं रहने के बाद भी इसे चलाया जा रहा था। वहीं मजदूरों को 130 रुपए से 160 रुपए की दैनिक मजदूरी दी जाती थी। मिल के जर्जर स्थिति में रहने के कारण रस की टंकी फट गई।

यह भी पढें
सासाामुसा मिल हादसा : गोरखपुर में जिंदगी और मौत के बीच झुल रहे हैं दो घायल, चल रही है केवल धुकधुकी

जनक राम ने लोकसभा में उठाया सासामुसा मिल हादसे का मुद्दा, कहा- मिल मालिक के खिलाफ दर्ज हो हत्या का केस, मिले 20-20 लाख का मुआवजा

जो मिल चलाने लायक नही थी, उसे चला कर मुनाफा कमा रहा था सासामुसा का मिल मालिक

 






Related News

  • गोपालगंज में खुला रोटी बैंक
  • हथुआ में हथियार के बल पर 4 लाख की लूट
  • खुद बीमार हो गया तिरबिरवां पंचायत का स्वास्थ्य केन्द्र
  • महिलाओं की बदहाली के खिलाफ सावित्री बाई फुले ने फूंका था क्रांति का बिगुल
  • गोपालगंज के पं दीनदयाल स्टेडियम पर लगी कुव्यवस्था की डायन !
  • जयंती पर याद किये गए मौलाना मजहरुल हक
  • कमला राय कॉलेज में कुव्यवस्था के खिलाफ छात्रों ने प्राचार्य का पुतला फूंका
  • दर्दनाक! मां के अंतिम संस्कार को बेटी ने भीख मांग जुटाए पैसे
  • Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com