हर लोकसभा क्षेत्रों में पांच-पांच युवाओं का नया कैडर खड़ा करेगी भाजपा

पार्टी की गुटबाजी वाली उठापटल के दूर यह युवा पार्टी की सही सोच जनता के बीच रखेंगे
गोपालगंज के सांसद जनक राम ने कहा-हर समाज के युवओं का चुनाव कर भेजेंगे नामों का प्रस्ताव
बिहार कथा ब्यूरो. नई दिल्ली/ गोपालगंज. भाजपा ने देश के प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र में पार्टी के नये पढ़े लिखे, ऊर्जावान एवं नई सोच वाले युवा कैडर को खड़ा करने और उन्हें प्रशिक्षित करके राजनीतिक सामाजिक आर्थिक संतुलन को कायम रखने में योगदान लेने की योजना बनायी है। पार्टी के सूत्रों के अनुसार हर लोकसभा क्षेत्र से पांच ऐसे युवाओं को चुनने का फैसला किया गया है। इन युवाओं की योग्यता- राष्ट्रवादी विचारधारा के साथ स्नातक और आयुसीमा 20 से 30 साल की निर्धारित की गई है। पार्टी ने अपने सभी लोकसभा और राज्यसभा सांसदों को अपने अपने क्षेत्र में योग्यता के इस पैमाने पर खरे उतरने वाले पांच युवाओं का बायोडाटा भेजने के निर्देश दिए हैं। लेकिन यह सूचना देश के सभी भाजपा सांसदों तक नहीं पहुंची है. गोपालगंज के सांसद जनक राम से जब इस बाबत पूछा गया तो इसकी जानकारी होने से इनकार करते हुए कहा कि हो सकता है पत्र जारी हुआ हो, लेकिन अभीन हीं मिला है. या जिले में प्रदेश के संगठन मंत्री नागेंद्र जी बैठक लेने वाले हैं, हो सकता है, उसमें इसके लिए कोई निदेश मिले. यदि निर्देश मिलता है तो कैसे पांच राष्ट्रवादी युवाओं का चयन करेंगे, इस सवाल पर सांसद जनक राम ने कहा कि जिले के हर क्षेत्र से हर समाज के प्रतिनिधित्व को देखते हुए समग्र नेतृत्व क्षमता वाले व्यक्तित्व के धनि युवाओं का ही वे पांच नाम प्रस्तावित करेंगे.
क्या करेगा यह युवाओं का यह कैडर
वहीं भाजपा के राष्ट्रीय स्तर के सूत्रों ने बताया कि इन युवाओं को प्रशिक्षित कर भाजपा द्वारा उस संसदीय क्षेत्र का आर्थिक-सामाजिक ब्यौरा एकत्र कराके मैपिंग करायी जाएगी जिससे सियासी असंतुलन को दूर किया जा सके। पार्टी नेतृत्व की सोच है कि इन युवाओं के ताज़ा दिमाग राजनीतिक पूर्वाग्रहों से मुक्त होंगे और वे सही-सही तस्वीर पेश कर सकेंगे। सूत्रों के अनुसार भाजपा सभी लोकसभा सीटों पर ऐसे युवाओं का जत्था चाहती है जो राजनीतिक उठा-पटक से दूर संगठन की जरूरत को पूरा करने का काम करें। इसके लिए नई अवधारणा पर काम किया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि भाजपा शीर्ष नेतृत्व ने पार्टी के 274 लोकसभा तथा 53 राज्यसभा सांसदों को इस बारे में गत सप्ताह एक पत्र लिखा है और पांच पांच युवाओं का बायोडाटा मंगाया है। सांसदों द्वारा जिन युवाओं का नाम सुझाया जाएगा, उन्हें एक परीक्षा देनी होगी जिसमें यह देखा जाएगा कि वे पार्टी की योजना के हिसाब से उपयुक्त हैं अथवा नहीं। पत्र में स्पष्ट कर दिया गया है कि पार्टी नेतृत्व को किस तरह के युवाओं की जरूरत है।
बायोडाटा भेजने की अंतिम तिथि तय नहीं
पत्र के अनुसार युवाओं की योग्यता- ऊर्जावान, सक्रिय और पढ़े-लिखे के साथ राष्ट्रवादी विचार होना चाहिए। आयु सीमा 20 से 30 साल की निर्धारित की गई है। पत्र में हालांकि बायोडाटा भेजने की अंतिम तिथि तय नहीं की गई है लेकिन सूत्रों का कहना है कि इस काम को जुलाई माह में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। सूत्र बताते हैं कि सभी सांसदों द्वारा भेजे गए बायोडाटा का निरीक्षण करने के बाद जो पार्टी के विचार के अनुरूप पाए जाएंगे, उनका चयन कर उनकी तैनाती उसी संसदीय क्षेत्र में की जाएगी जहां से वे आये होंगे। परीक्षा में उनकी राजनीतिक समझ तथा आर्थिक-सामाजिक स्थिति की जानकारी के अलावा यह परखा जाएगा कि उनका राष्ट्र के प्रति कितना झुकाव है। पार्टी नई तरह की मशक्कत इसलिए कर रही है क्योंकि वह चाहती है कि हर संसदीय क्षेत्र में युवाओं का ऐसा समूह रहे, जो उस संसदीय क्षेत्र के ग्रामीण और शहरी क्षेत्र से संबंधित सारी जानकारी एकत्र रखे। भौगोलिक, सामाजिक और आर्थिक जानकारी जुटाने के पीछे पार्टी का उद्देश्य विकट परिस्थितियों के लिए पहले से तैयार रहना है जिससे किसी तरह का राजनीतिक झंझावात आने पर सियासी असंतुलन को ठीक किया जा सके।






Related News

  • शराबबंदी के बाद चकबंदी है नीतीश का अगला कदम
  • बोले तेजस्वी यादव, कहा, जो चल रहा है, मीडिया में ही चल रहा है, नहीं दूंगा इस्तीफा
  • आदिवासियों के विकास के मुद्दे पर गुजरात में जदयू के विधायक ने किया राष्ट्रपति चुनाव का बहिष्कार
  • लालू की दो टूक तेजस्वी नहीं देंगे इस्तीफा
  • सोनिया ने की सुलह की कोशिश-कांग्रेस नेतृत्‍व से मिल सकते हैं नीतीश
  • सिर्फ 5 मिनट लगेगा सरकार से हटने में
  • लालू को मजबूती से घेरने के लिए सीबीआई ने मांगी रेल मंत्री रहते हुई डील की सारी फाइलें
  • हर लोकसभा क्षेत्रों में पांच-पांच युवाओं का नया कैडर खड़ा करेगी भाजपा
  • Comments are Closed