इस्तीफा नहीं, नीतीश ने तेजस्वी से मांगा आरोपों का तथ्यपरक जवाब

जदयू ने तेजस्वी को जनता के सामने तथ्य रखने का दिया मौका
पटना. भ्रष्टाचार के मामले में कथित रूप से फंसे बिहार में सत्तारूढ़ महागठबंधन के बड़े घटक राष्ट्रीय जनता दल (राजद) विधायक दल के नेता एवं उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के खिलाफ केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के मामला दर्ज किये जाने से हुयी राजनीतिक गहमागहमी के बीच आज प्रमुख घटक जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने कहा कि वह श्री यादव से जनता को उनके खिलाफ लगे आरोप पर तथ्यपरक जवाब देने की अपेक्षा करती है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं विधान परिषद के सदस्य नीरज कुमार ने पार्टी के विधान मंडल दल के सदस्यों, सांसदों, जिलाध्यक्षों और विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्षों के साथ प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद यहां जदयू के प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में भ्रष्टाचार और अपराध पर पार्टी के रुख को स्पष्ट करते हुए उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव का नाम लिये बगैर कहा कि जिन पर इस तरह के आरोप लगे हैं वह जनता की अदालत में अपनी बात रखें । पार्टी उम्मीद करती है कि आरोप लगने के बाद वह तथ्य परक जवाब जनता के साथ ही मीडिया के बीच भी पेश करेंगे। श्री कुमार ने कहा कि उनकी पार्टी गठबंधन धर्म का पालन करना अच्छी तरह से जानती है और इस धर्म का पालन करना भी चाहती है। भ्रष्टाचार उन्मूलन के लिए पार्टी हमेशा प्रतिबद्ध रही है। ऐसे में अब यह फैसला जिन पर आरोप लगा है (तेजस्वी ) उन्हीं को लेना है। उन्होंने कहा कि जदयू को अपने काम पर विश्वास है। प्रवक्ता ने भ्रष्टाचार के खिलाफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के किये गये अब तक के कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि श्री कुमार ने वर्ष 2005 में अपने शपथ ग्रहण के चार घंटे के अंदर ही नवनियुक्त मंत्री श्री जीतन राम मांझी से एक पुराने मामले में इस्तीफा ले लिया था। श्री कुमार ने कहा कि इसी तरह वर्ष 2008 में एक अन्य पुराने मामले में तत्कालीन परिवहन मंत्री रामानंद प्रसाद सिंह से भी इस्तीफा लिया था। वर्ष 2011 में तत्कालीन सहकारिता मंत्री रामधार स्िंाह, 18 फरवरी 2010 को उत्पाद एवं मद्य निषेद मंत्री जमशेद अशरफ से तथा वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव के समय तत्कालीन उत्पाद एवं मद्य निषेध मंत्री अवधेश कुशवाहा से इस्तीफा ले लिया गया था । प्रवक्ता ने कहा कि उनकी पार्टी राजनीतिक भूमिका में ही नहीं बल्कि सामाजिक सुधार की दिशा में बढ़ रही है। वह भ्रष्टाचार, बाल विवाह और दहेज प्रथा को समाप्त करने के लिये काम कर रही है। उन्होंने कहा कि पार्टी की एक राष्ट्रीय पहचान बनी है और पार्टी ने कथनी और करनी में कभी भी अंतर नहीं किया है।
श्री कुमार ने कहा कि बैठक में जदयू के प्रखंड, सेक्टर (नगर क्षेत्र ), जिला एवं प्रदेश कार्यालय की ओर से आयोजित कार्यक्रमों का एक कैलैंडर जारी किया गया । जारी कैलैंडर में पार्टी के प्रखंड और सेक्टर अध्यक्ष प्रत्येक माह के पहले रविवार को प्रखंड पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। उन्होंने कहा कि इसके बाद उसी दिन प्रखंड और सेक्टर के अध्यक्ष अपनी अध्यक्षता में प्रखंड पदाधिकारियों एवं प्रकोष्ठ अध्यक्षों की संयुक्त बैठक भी करेंगे। प्रवक्ता ने कहा कि प्रकोष्ठों के जिला एवं नगर अधक्ष प्रत्येक माह के दूसरे रविवार को जिला पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे । इसके बाद उसी दिन पार्टी के जिला एवं नगर अध्यक्ष अपनी अध्यक्षता एवं संगठन प्रभारी की उपस्थिति में जिला पदाधिकारियों एवं प्रकोष्ठों के जिला एवं नगर अध्यक्ष के साथ भी बैठक करेंगे। श्री कुमार ने कहा कि प्रकोष्ठों के प्रदेश अध्यक्ष प्रत्येक माह के तीसरे रविवार को प्रदेश पदाधिकारी और राज्य कार्यकारिणी के सदस्यों के साथ बैठक करेंगे। बैठक की तिथि भी सभी पदाधिकारियों को उपलब्ध करा दी गयी है। उन्होंन कहा कि पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों एवं राज्य कार्यकारिणी के सदस्यों की हर दूसरे माह के चौथे रविवार को संयुक्त बैठक आयोजित की जायेगी । पंचायत से प्रदेश स्तर तक के प्रत्येक पदाधिकारी अपने निजी आवास पर पार्टी का झंडा एवं नेम प्लेट लगायेंगे।






Related News

  • नीतीश व्यक्तिगत राग-विराग छोड़ लालू से करें बात : शिवानंद
  • कृष्णा शाही हत्याकांड में एसआईटी जांच की मांग
  • काली बाबा के मन में समाया गोपालगंज एसपी का खौफ
  • तेली साहू सम्मेलन में बोले लालबाबू- पहले तिजोरी खोलिए फिर राजनीति कीजिए
  • मायावती की बहादुरी के लिए बधाई, वे चाहें तो राजद उन्हें राज्यसभा भेज सकती है : लालू
  • सरकार बचाने की जिम्मेवारी कांग्रेस को देना, दूध की रखवाली बिल्ली को सौंपने जैसा : सुशील
  • शराबबंदी के बाद चकबंदी है नीतीश का अगला कदम
  • बोले तेजस्वी यादव, कहा, जो चल रहा है, मीडिया में ही चल रहा है, नहीं दूंगा इस्तीफा
  • Comments are Closed