दस हजार रुपये रिश्वत लेते डीसीओ गिरफ्तार

गोपालगंज/सारण. पटना से आयी निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की टीम ने शनिवार को जिला सहकारिता पदाधिकारी ( डीसीओ) राकेश शर्मा को दस हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया. निगरानी की टीम जिला सहकारिता पदाधिकारी को अपने साथ पटना ले गयी. राकेश शर्मा का गोपालगंज तबादला हो चुका था. साथ ही उन्हें सीवान का भी अतिरिक्त प्रभार दिया गया था. लेकिन उन्होंने अभी छपरा जिले का प्रभार नहीं छोड़ा था. निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के डीएसपी विनय कुमार सिंह ने बताया कि सारण जिले की दुधैला पंचायत के पैक्स अध्यक्ष श्याम बाबू महतो से शिकायत मिली थी कि गोदाम निर्माण के लिए दूसरी किस्त की राशि निर्गत करने के लिए जिला सहकारिता पदाधिकारी रिश्वत की मांग कर रहे हैं. रिश्वत नहीं देने के कारण गोदाम निर्माण की राशि निर्गत नहीं की जा रही है. शिकायत के बाद इसकी जांच करायी गयी, तो आरोप सही पाया गया. इसके बाद निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के एसपी ने टीम गठित की. टीम में डीएसपी रमेश कुमार मल्ल तथा विनय कुमार सिंह समेत अन्य पदाधिकारी शामिल थे. टीम ने शनिवार को दोपहर के समय जिला सहकारिता पदाधिकारी के कार्यालय में छापेमारी कर राकेश शर्मा को दस हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया. जिला सहकारिता पदाधिकारी की गिरफ्तारी के बाद निगरानी की टीम ने उनके किराये के आवास पर भी छापेमारी की. वहां से कई महत्वपूर्ण सरकारी फाइलें बरामद की गयीं, जिसे निगरानी की टीम अपने साथ ले गयी. निगरानी डीएसपी विनय कुमार सिंह ने बताया कि गिरफ्तार जिला सहकारिता पदाधिकारी राकेश शर्मा के खिलाफ निगरानी थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी जायेगी.






Related News

  • काली बाबा के मन में समाया गोपालगंज एसपी का खौफ
  • थाने में हमला कर पुलिस जवानों को पीटकर युवक को छुड़ा ले गए गांव के लोग!
  • एसपी पर हमला करने के मामले में शहाबुद्दीन को हाईकोर्ट से बड़ी राहत
  • गोपालगंज:सीवान की प्रेमिका के कहने पर पत्नी को गोलियों से भूना
  • बिहार का दयालु चोर; दिल्ली में करता था चोरी, गांव में कराता था गरीब लड़कियों की शादी!
  • सीवान में सड़क दुर्घटना : आठ साल की बच्ची समेत तीन की मौके पर ही मौत
  • लापरवाह दारोगा दूबे जी को डीआईजी ने किया सस्पेंड
  • ऐसा भाई किसी को न हो! भाई को सपरिवार जिंदा जलाया, चार की मौत
  • Comments are Closed