पागल मीडिया पूछ रहा है-किसान बोतल का पानी क्यों पी रहे थे? अरे महाराज, किसानों का आंदोलन है. भिखारियों और पुजारियों की सभा नहीं

मीडिया पगला गया है. पूछ रहा है कि आंदोलनकारी किसान बोतल का पानी क्यों पी रहे थे? अच्छा खाना क्यों खा रहे थे?

अरे महाराज, किसानों का आंदोलन है. भिखारियों और पुजारियों की सभा नहीं है.

एक भैंस कितने में आती है, पता है? एक अच्छी भैंस बेचने से एक सेकेंड हैंड कार आ जाएगी.

और एक बीघा जमीन कितने की होती है? खासकर अगर जमीन बहुफसली सिंचित हो तो? किसान अपनी जमीन का एक टुकड़ा बेच दे तो? मतलब समझते हो इसका. और नहीं समझते हो तो काहे के पत्रकार है. मंदिर जाओ. आरती की थाली लेकर मांगो.

किसान मालिक हैं देश के.
निठल्ले, मंगते नहीं हैं पुजारियों की तरह. मेहनत का खाते हैं.

खूब पीएंगे बोतल का पानी. और बोतल का पानी नहीं पीएंगे तो कौन सा पानी पीएंगे? जंतर मंतर पर आपके बाबूजी ने नल लगा रखा है क्या? या वहां कोई हैंडपंप खुदा है. प्याऊ का सिस्टम भी तो आप खा चुके हैं.

धर्म कर्म से लेना देना होता, तो कनॉट प्लेस के सेठ लोग घर के गेट पर चार घड़े ही रखवा देते. वह तो होगा नहीं.

जब पता है कि जंतर मंतर में पब्लिक आती है, तो पानी के दो टैंकर नगरपालिका क्यों नहीं लगवा देती? एक एक नल का कनेक्शन ही दे दे. नगरपालिका तो केंद्र सरकार के सीधे अधीन है.

मुद्दे की बात यह है –

फसल का सही दाम दो. कीमत को कंट्रोल मत करो. खाद-बीज वाजिब कीमत पर दो. बाकी वे खुद संभाल लेंगे.

किसानों को सरकार लूटें मत. इतना ही तो वे चाहते हैं.

दिक्कत यह है कि सरकार और बैंक लुटेरे हैं. वरना ट्रैक्टर लोन का इंटरेस्ट रेट कार लोन से डेढ़ गुने से ज्यादा क्यों होता?

अपने नाम पर तीन एकड़ खेती की जमीन न हो तो ट्रैक्टर लोन नहीं मिलता. लेकिन आपके पास अपनी कार खड़ी करने की 15 फुट की जमीन न हो, तो भी कार लोन मिल जाएगा.

ये है समस्या.

फिर भी किसान है. मालिक है देश का. बोतल का पानी पी लिया, तो हुलसिए मत. मरी हालत में भी जिस जमीन पर बैठा है, उसकी कीमत ज्यादातर संपादकों की कुल हैसियत से ज्यादा है.

पसंद करेंऔर प्रतिक्रियाएँ दिखाएँ

टिप्पणी करें

साझा करें
मुख्य टिप्पणियाँ
1.2 हज़ार आप, Surjeet Kumar Singh, Irshadul Haque और 1.2 हज़ार अन्य लोग
188 बार साझा किया गया
टिप्पणियाँ
Sanjay Kumar
टिप्पणी लिखें…
Dilip C Mandal
Dilip C Mandal बोतल का पानी नहीं पीएंगे तो कौन सा पानी पीएंगे? जंतर मंतर पर आपके बाबूजी ने नल लगा रखा है क्या? या वहां कोई हैंडपंप खुदा है. प्याऊ का सिस्टम भी तो आप खा चुके हैं.
पसंद करें · जवाब दें · 90 · 4 घंटे

 

30 जवाब छिपाएँ
मुख्य टिप्पणियाँ चयनित है, इसलिए कुछ जवाबों को शायद फ़िल्टर करके बाहर कर दिया गया है.
Modi Bhakt
Modi Bhakt Tere bapu mulayam aur lalu yadav b minister rhe h.. wo lga dete
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

Dhanraj Lakhwani
Dhanraj Lakhwani मंडल जी जंतर मंतर पर हर धरने में गुरुद्वारे से खाने पीने की व्यवस्था होती है इनVVIP किसानों ने उसके लिए ना बोलकर रेस्तराँ से खाना मंगवाया
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

Dilip C Mandal
Dilip C Mandal Dhanraj Lakhwani बकवास. आपको कुछ नहीं पता. अभी जाकर देख लीजिए.
पसंद करें · जवाब दें · 10 · 4 घंटे

 

Dhanraj Lakhwani
Dhanraj Lakhwani आप पता किजिए सर मेरा तो देखा हुआ भी है और खाया हुआ भी है
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

Sangha Deep
Sangha Deep Dhanraj Lakhwani jo bottle mei wo urine pi rhe the or nange hokar pradarshan kar rhe the kya tum kar sakte h
Nii kyoki dharti Putra nii
पसंद करें · जवाब दें · 4 घंटे

 

Suraj Sharma
Suraj Sharma दिलिप सर ..
किसानो की जाति लिख देते तो मजा आ जाता !और देखें

चित्र में ये शामिल हो सकता है: आग और पाठ
पसंद करें · जवाब दें · 9 · 4 घंटे

 

Dilip C Mandal
Dilip C Mandal Dhanraj Lakhwani झूठ बोलने वाला नर्क में जाता है. वहां उसे तेल में फ्राइ किया जाता है.
पसंद करें · जवाब दें · 35 · 4 घंटे

 

Sangha Deep
Sangha Deep जो ये कह रहे हैं कि जंतर-मंतर पर किसान ‘नौटंकी’ कर रहे हैं, उनसे अनुरोध है कि ऐसी नौटंकी वो भी करके दिखाएं। एक दिन के लिए ही सही।
Kyun Dilip C Mandal Sir
पसंद करें · जवाब दें · 8 · 4 घंटे

 

Anjali Sharma

Anjali Sharma

पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

Chandarpal Saini
Chandarpal Saini Suraj Sharma
Vo aadmi hiway PR h na ki thane me…
पसंद करें · जवाब दें · 4 घंटे

 

Chandarpal Saini

Chandarpal Saini

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 3 लोग
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

Dhanraj Lakhwani
Dhanraj Lakhwani फिर तो आपको बहुत तकलीफ होगी मंडल सर😂😂😂
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

Jaidev Singh
Jaidev Singh Kyu bhai dalit kisan nhi ho sakta kya??
Or bechare modi bhakat ko to ye bhi ni pta ki jantar mantar delhi me h ya up me…
पसंद करें · जवाब दें · 3 · 4 घंटे

 

Suraj Sharma
Suraj Sharma Jaidev Singh
नही …
दलित किसान नही हो सकता !और देखें
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

Bhanu Pratap Baghmar
Bhanu Pratap Baghmar मोदी भक्त किसानो के आंदोलन को फर्जी बताकर लोगो को गुमराह करने की जी तोड़ मेहनत कर रहे है।
पसंद करें · जवाब दें · 3 · 4 घंटे

 

अरविन्द सिंह
अरविन्द सिंह धनराज जी, मंडल भाई को कई बार फ्राई किया जाएगा। इनका तो सुबह आँख खुलने से लेकर रात को आँख बंद होने तक ख़ाली झुठ हीं चलता रहता है।
😂😂😂😂
पसंद करें · जवाब दें · 5 · 4 घंटे

 

Dhanraj Lakhwani
Dhanraj Lakhwani Bhanu Pratap Baghmar JI जिन किसानों के सर पर ईतना कर्ज हो कि वो विरोध के लिए मलमुत्र सेवन करने लगे वो अगर वापिस जाने के लिए हवाई यात्रा करे तो वो किसान नही प्रीपेड वर्कर कहलाता है
पसंद करें · जवाब दें · 4 · 4 घंटे

 

Khivraj Singh

Khivraj Singh मंडल जी जब से इंडिया टुडे ने आप को निकाला उसके बाद भी आप के चेले ही काम कर रहे हैं नोएडा में तमिलनाडु के किसानों का क्या काम है यह आंखों देखा हाल

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 3 लोग, बाहर
पसंद करें · जवाब दें · 7 · 2 घंटे

 

Ravi Giri
Ravi Giri चुसा मंडल जी आपको भी तेल मे फ्राई किया जायेगा ।। जाती के नाम पे दलितो को तोडने के लिए ।।
पसंद करें · जवाब दें · 4 · 2 घंटे

 

Jay Hind
Jay Hind ye maderchod shukla, tiwari, sharma, dwivedi, mishra surname wale log kaise in kisano ki bechargi ka majak uda rahe hain, haram ke jano tumhare purvajon ne kukarm kiye to kiye tum log bhi aaj tak apne nalayak harami baap dadaon ke raste par chal rahe hऔर देखें
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 2 घंटे

 

Nilesh Pasi
Nilesh Pasi एक अकेला मंडल इन कमंडलो पे भारी
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 1 घंटा

 

Chidarpita Gautam
Chidarpita Gautam दिल्ली में।हर कदम पर ठन्डे पानी की मशीन मिल जाती हैं। एक रुपये का एक गिलास। दिलीप मंडल जैसे लोगों को हिमालया के मिनरल वाटर और उस पानी के रेट में कोई अंतर नहीं लगेगा क्योंकि राष्ट्रवादियों और हिंदुओं का विरोध करने के बहुत मिल जाते होंगे
पसंद करें · जवाब दें · 5 · 1 घंटा

 

Rupesh Mishra
Rupesh Mishra Jay Hind mentaly disturb lagte Ho…
पसंद करें · जवाब दें · 46 मिनट

 

Dinesh Kumar
Dinesh Kumar अन्धभगतो के अलावा अगर कोई परेसान है विरोध कर रहा है तो वो देशद्रोही है पाकिस्तानी है और विदेशी आर्य आज देशप्रेमी हो गए। यही दोगलापन है। भिखमंगो को क्या पता कि जमीर क्या चीज है। किसान गरीब हो सकते है भीखमंगे नही।
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 33 मिनट

 

Farid Rana
Farid Rana मेरी समझ मै नही आता bjp के कुत्ते अपनी मा चुदाने आते है क्या ईस पेज पर
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 29 मिनट

 

Anas Bari

Anas Bari भक्त – बताइये तमिल किसान हवाई जहाज़ से लौटे हैं!

मैं – ग़लत, तमिल किसान तमिलनाडु एक्सप्रेस से कल रात निकले हैं, 10.35 परऔर देखें

पसंद करें · जवाब दें · 24 मिनट

 

Anas Bari

Anas Bari

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 5 लोग, लोग खड़े हैं
पसंद करें · जवाब दें · 24 मिनट

 

अब्दुल रहींम कायमखानी
अब्दुल रहींम कायमखानी FaridRANA तेरे जेसे की अम्मी चोदने आते होगे
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 13 मिनट

 

अब्दुल रहींम कायमखानी

अब्दुल रहींम कायमखानी बहन के लोड़े पूरे देश को बदनाम करने आए है

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 2 लोग, बाहर
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 11 मिनट

 

Ravi Giri

Ravi Giri

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 2 लोग
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 मिनट

 

मुख्य टिप्पणियाँ चयनित है, इसलिए कुछ जवाबों को शायद फ़िल्टर करके बाहर कर दिया गया है.
Sanjay Kumar
कोई जवाब लिखें…
Dilip C Mandal
Dilip C Mandal अपने नाम पर तीन एकड़ खेती की जमीन न हो तो ट्रैक्टर लोन नहीं मिलता. लेकिन आपके पास अपनी कार खड़ी करने की 15 फुट की जमीन न हो, तो भी कार लोन मिल जाएगा.
ये है समस्या.
पसंद करें · जवाब दें · 92 · 4 घंटे

 

9 जवाब · 3 घंटे
Dilip C Mandal
Dilip C Mandal ट्रैक्टर लोन का इंटरेस्ट रेट कार लोन से डेढ़ गुने से ज्यादा क्यों होता? यह है समस्या.
नापसंद करें · जवाब दें · 61 · 4 घंटे

 

6 जवाब · 44 मिनट
Atul Gangwar
Atul Gangwar ट्रेक्टर अगर कैश पेमेण्ट पर लो तो पांच लाख का…वही ट्रैक्टर अगर बैंक लोन से लेना है तो उसकी कीमत साढे पांच लाख हो जाती है….जब्कि कार के साथ ऐसा नहीं है
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 3 घंटे

 

Rahul Anand
Rahul Anand Bahut sateek jwab Bhaiya are dushro ke tukado PR palne wale wo kya kishani samjhenge ज़ितना वो बेतन पाते है ऊतना अनाज किसानं के छप्पर पर ऊगता है बरसात के सीजन् में बात करते hai..
पसंद करें · जवाब दें · 3 · 4 घंटे

 

Vandana Singh
Vandana Singh हर आंदोलन को बदनाम करने का चलन इसलिए शुरू कर दिया गया है कि मुद्दे से ध्यान भटक जाए।जब एक को बदनाम करने का अभियान चलता है तो दूसरा चुप होकर देखता हैं।जरूरत है प्रतिरोध की सभी ताकतें इन पुजारियों ,पंडों ,लोटन मीडिया और देशभक्ति को ब्रांड की तरह बेचने बालों को बेनकाब करें।
पसंद करें · जवाब दें · 34 · 4 घंटे

 

17 जवाब · 2 घंटे
अखिलेश मालव
अखिलेश मालव जिन शरणार्थियों को किसान कबीलों ने अपने गाँवों में बसाया। गाँव के नजदीक की जमीनें दी। फसल आते ही जिनको सबसे पहले दक्षिणा दी। आज वे कह रहे है कि किसान बिसलेरी का पानी क्यों पीते है। सही बात है सांप को पालना ही नहीं चाहिए।
पसंद करें · जवाब दें · 16 · 4 घंटे

 

Awadhesh Kumar

Awadhesh Kumar मीडिया पगला गया है. पूछ रहा है कि आंदोलनकारी किसान बोतल का पानी क्यों पी रहे थे? अच्छा खाना क्यों खा रहे थे?

अरे महाराज, किसानों का आंदोलन है. भिखारियों और पुजारियों की सभा नहीं है.और देखें

पसंद करें · जवाब दें · 1 · 2 घंटे

 

Atul K Mehta
Atul K Mehta लोन माफ़ी की मांग करने वाले सिर्फ भिखारी ही नही, हरामखोर भी होते हैं, चाहे वो कोई किसान हो या उद्योगपति
पसंद करें · जवाब दें · 14 · 4 घंटे

 

6 जवाब · 39 मिनट
Raju Mastana
Raju Mastana फिलहाल किसानों को नीम्बू सा निचोड पी जाने की मँशा हे और कुत्ते अपने मालिकों सा ही सोच सकते ना कम ना ज्यादा
पसंद करें · जवाब दें · 4 · 4 घंटे

 

Gulzar Hussain
Gulzar Hussain जबर्दस्त बात। सटीक। किसान अच्छा खाना क्यों नहीं खाएंगे? अच्छे खाने पर केवल मंत्रियों का ही अधिकार है क्या।
किसान हक़ मांग रहे हैं, भीख नहीं।
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 2 घंटे

 

Sujeet Shandilya
Sujeet Shandilya एक्टिंग वही होती है जिसके असली होने का आभास हो। एक्टर रोए तो देखने वाले भी रोएं। एक्टर हंसे तो दर्शक हंसें। हीरो की भूख की पीड़ा दूसरे को महसूस हो।
निकले हुए पेट, मिस्टर इंडिया जैसे मसल्स, गोरा रंग, नकली नरमुंड (असली थे तो बताइए कि किसकी कब्र से खोदकर और देखें
पसंद करें · जवाब दें · 4 · 2 घंटे · संपादित

 

3 जवाब · 36 मिनट
Vikash Pathak
Vikash Pathak कभी किसानों को एक ही ड्रेस कोड में प्रदर्शन करते थे तरह-तरह की बाजीगरी करते कभी चूहा खाते कभी सांप खाते कभी पिशाब पीते हैं आप लोगों ने देखा नहीं होगा
अच्छा हुआ कि इन भाड़े के टट्टुओं की पोल खुल गई और यह दुम दबाकर भागने को मजबूर हो गए ..अब यह खुलासा हो रऔर देखें
पसंद करें · जवाब दें · 12 · 4 घंटे

 

9 जवाब · 1 घंटा
Manish Vaishnav
Manish Vaishnav फ़िल्म सिंघम में इंस्पेक्टर सिंघम कहता है “गांव जाऊंगा मेहनत करूँगा और अपनी जरूरते पुरी करूँगा ,क्योंकि मेरी जरूरतें कम है इसलिए मेरे जमीर में दम है।। यही मजदुर हैं किसान हैं जिनकी जरूरतें बहुत जादा हैं अच्छा खाना पीना फ्लाइट से यात्रा राजधानी का सफ़रऔर देखें
पसंद करें · जवाब दें · 7 · 4 घंटे

 

Afzal Khan
Afzal Khan Haha.. bilkul sahi.. kal sham Ko kisi ne kaha tha ki 24 hours me Delhi me farmers protest me new twist as jayega.. news dekhte rahna.. pura mamla jihadi and commis pe focus ho jayega.. state CID bhi active hogi.. bilkul Wahi ho Raha.. bas kuchh der aurऔर देखें
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 2 घंटे

 

वीर प्रताप सिंह
वीर प्रताप सिंह और ऐसा क्या हुआ कि mcd चुनाव खत्म होते ही उनका धरना खत्म हो गया।
पसंद करें · जवाब दें · 8 · 2 घंटे

 

वीर प्रताप सिंह
वीर प्रताप सिंह और जब मांगना राज्य सरकार से था तो देल्ही में धरना क्यों?
पसंद करें · जवाब दें · 3 · 3 घंटे

 

1 जवाब
Minoru Lonare
Minoru Lonare दिलीप सर को पहेली बार ऐसे मूड में देखा हु ……💪 अच्छा हैं ।
पसंद करें · जवाब दें · 4 · 4 घंटे

 

Anil Singh Gond
Anil Singh Gond सरदेसाई अभी भी गोवा की दलाली से बाहर नही निकल पाया है….?
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 3 घंटे

 

Shaukat Hussain
Shaukat Hussain ज़बर्दस्त लिखा है।
शानदार।
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

Gurtej Singh Gill
Gurtej Singh Gill अच्छी तरह धुलाई कर दी
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

Prakash Pant
Prakash Pant बहुत सही दिलीप जी
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 3 घंटे

 

Gaurav Pratap Singh Jadaun
Gaurav Pratap Singh Jadaun दिल्ली में धरना दे रहे तमिलनाडु के किसान धरना खत्म होने के बाद रात 9 बजे की फ्लाइट से चेन्नै लौटकर वापस गये हैं, ये नौटंकी बंद करो जनाब
पसंद करें · जवाब दें · 9 · 5 घंटे

 

14 जवाब · 10 मिनट
वीर प्रताप सिंह
वीर प्रताप सिंह जब किसान फलईट में सफर करते हैं तो उन्हें पैसे की कुछ जरूरत।
पसंद करें · जवाब दें · 3 · 3 घंटे

 

Sanjay Kumar
Sanjay Kumar 5000 फेसबुक फ्रेंड के साथ 93031 लोगों द्वारा फॉलो किया जा रहा है, इसका मतलब है कि आग लगी हुई है
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 19 मिनट

 

Chhattigarh Jai Johar
Chhattigarh Jai Johar भक्तो को भोकने के आलावा कुछ आता नहीं …..अरे दुब मरो शालो जो इतना कुछ हो रहा है फिर भी तुम लोगो को दिखाई नहीं देता…….ऐसे ही लोगो के कारण माल्या जैसे लोग येस करते है और किसान मरता है
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 2 घंटे

 

Sandhir Kumar Boudh
Sandhir Kumar Boudh वरना ट्रैक्टर लोन का इंटरेस्ट रेट कार लोन से डेढ़ गुने से ज्यादा क्यों होता?
पसंद करें · जवाब दें · 2 घंटे

 

Jairam Paswan
Jairam Paswan Sir ye log kebal aur kebal farjee baat karte hai
पसंद करें · जवाब दें · 4 घंटे

 

Kamta Prasad Maurya
Kamta Prasad Maurya सही जबाव
पसंद करें · जवाब दें · 4 घंटे

 

Dhanraj Lakhwani
Dhanraj Lakhwani मंडल जी जंतर मंतर पर हर धरने में गुरुद्वारे से खाने पीने की व्यवस्था होती है इनVVIP किसानों ने उसके लिए ना बोलकर रेस्तराँ से खाना मंगवाया
पसंद करें · जवाब दें · 4 · 4 घंटे

 

4 जवाब · 3 घंटे
राजकुमार पासवान
राजकुमार पासवान तमिलनाडु की बीजेपी सरकार को इस्तीफा देना चाहिए अगर वो यूपी की योगी सरकार की तरह किसानों के कर्जे माफ नही कर सकती।😊
पसंद करें · जवाब दें · 7 · 4 घंटे · संपादित

 

10 जवाब · 2 घंटे
Sandeep Baslas

Sandeep Baslas अरे मंडल बाबा

शाम को cm ने आश्वासन दिया और सारे कथित गरीब गायब दिल्ली सेऔर देखें

पसंद करें · जवाब दें · 6 · 2 घंटे

 

Sandeep Baslas

Sandeep Baslas एक बात और बताओ

ये खोपड़ियां कहाँ से आईं और किनकी थीं???और देखें

पसंद करें · जवाब दें · 5 · 2 घंटे

 

Sandeep Baslas
Sandeep Baslas आज आप लोगों को “एक किसान” की सच्ची कहानी सुनाता हूँ… जो मैंने “इंडिया टुडे” में कुछ साल पहले पढ़ा था, और यही उस मैग्जीन की कवर स्टोरी भी थी।
_____________________और देखें
पसंद करें · जवाब दें · 5 · 2 घंटे

 

Suraj Sharma
Suraj Sharma दिलिप सर ..
किसानो की जाति लिख देते तो मजा आ जाता !और देखें

चित्र में ये शामिल हो सकता है: आग और पाठ
पसंद करें · जवाब दें · 5 · 4 घंटे

 

Amit Shringari
Amit Shringari किसान नहीं माफिया हैं ये लोग –
ये जो लोग तथाकथित तमिलनाडु के किसान बनकर दिल्ली में धरना दिए बैठे हैं , इनका नेता शेख हुसैन है (फोटो )। ये कभी किसान नहीं रहा। ये इ वी रामास्वामी की द्रविड़ पार्टी पेरियार का कार्यकर्त्ता है।
इनकी सभी मांगे राज्य सरकार सऔर देखें

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 3 लोग, धूप के चश्मे
पसंद करें · जवाब दें · 4 · 4 घंटे

 

Sanjay Kumar
Sanjay Kumar बाहुबली रघुराज पर जब सीबीआई जाँच बैठती है तो पूरे क्षत्रिय समाज का खून खौल उठता है। बसपा/भाजपा सहित सभी विपक्षी दलों के ठाकुर रघुराज के साथ होते है।
हरिशंकर तिवारी पर छापा पड़ता है तो पूरे ब्राह्मण समाज में आक्रोश फैल जाता है, हर दल का ब्राह्मण तिवारी कऔर देखें
पसंद करें · जवाब दें · 3 · 4 घंटे

 

मनोज शर्मा
मनोज शर्मा अभी तो सोशल मीडिया पर तमिलनाडु के ग्रीनपीस छाप किसानों की पोल खुलना शुरू ही हुई थी…बस वामपंथी आका घबरा गये और सभी किसान 9 बजे की फ्लाईट से चेन्नई रवाना…..
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 2 घंटे

 

Vijay Kumar
Vijay Kumar 25000 rs किलो वाली मशरूम कि सब्जी और काजू के आटे की रोटी खाने वाले फ़क़ीर के भक्त क्या जाने की इस देश में एक वक्त हर गली मोहल्ले में पाये जाने वाले हैण्डपम्प गधे के सर से सींग की तरह गायब हो गये हैं और इस देश का किसान मजदूर तो क्या भिखारी भी इन खाली बोतलों में यहाँ वहाँ से पानी जुगाड़ कर रखता है और अपनी प्यास बुझाता है,,,,,,,,ये बहुत ही जटिल बात है जो भयंकर विकास से पीड़ित लोगों को समझ ही नहीं आयेगी
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 3 घंटे

 

विवेक कुमार पचपोल
विवेक कुमार पचपोल अजीब बीमारी है मण्डल को कल तक बता रहा था की अन्नदाता भूखे मर रहा है खाने को नही है आत्महत्या पे मजबूर है और आज आंदोलन (?) की सत्यता सामने आते ही किसान को लखपति करोड़पति बताने में लगे है मण्डल
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 3 घंटे

 

Sujata Bouddh
Sujata Bouddh इस गरीब मुल्क में आपने पानी बेचने वाली फैक्ट्री क्यों खोली
वैसे ही धरातल का पानी पातळ से भी निचे जा चूका है !!
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 1 घंटा

 

1 जवाब
Pardeep Singh
Pardeep Singh शहर का जो संपन्न वर्ग किसान से दो रूपए साग सब्ज़ी और बीस रूपए दूध की अपेक्षा रखता हो वह भला उनकी हालत के प्रति क्यों संवेदनशील होगा
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 1 घंटा

 

Dheeraj Mohan
Dheeraj Mohan बिसलरी की जो बोतल का पानी दिखाया जा रहा है वह बंबे का पानी होता है 50 बार उस बोतल को खाली करके फिर भरता है आम इंसान कई बार लोग बिसलरी का कड़वा पानी उड़ेलकर उसके अंदर बंबे का पानी भर लेते हैं
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे · संपादित

 

2 जवाब · 2 घंटे
Ashish Kumar
Ashish Kumar चरण सिंह के बाद किसानों को एकजुट कोई नहीं कर पाया।
यही अकेला वर्ग है जो साम्प्रदायिकता से निपट सकता है।
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

Santoshsingh Rathore

Santoshsingh Rathore किसान बहुत संपन्न थे. एक्टर भी संपन्न ही होते है. चलो अंत भला सब भला.

हाँ सरकार ने लूटना कब से शुरू किया? यह खबर अखबार में आयी नहीं थी. और यह कौनसी सरकार ने शुरू किया? केन्द्र या राज्य ने? सब बातें अखबार में नहीं आती. मिले हुए है.

पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

2 जवाब · 4 घंटे
अवधेश शर्मा
अवधेश शर्मा महाराज इतना काहे उग्र हो रहे है। मुद्दा किसान होता तो सब समर्थन में होते। पर क्या वाकई ये किसान है। लेफ्ट द्वारा प्रायोजित इस पूरे प्रकरण ने किसानों का कोई हितसाधन नहीं किया। ये NGO के ट्रेंड कार्यकर्ता दिल्ली MCD चुनाव समाप्त होते ही कल की रात्रि 9 बजे की फ्लाइट लेकर निकल गए है। हम भी चाहते है हमारे किसान ऐसी लाइफस्टाइल से जिये । पर किसान के नाम पर नौटंकी वाले ही मजे मार गए यहां तो।
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 46 मिनट · संपादित

 

Ravikumar Lokhande
Ravikumar Lokhande सुपारी पत्रकारिता का युग है। यह सरकार की वह सेना है जो मुसीबत में ढाल की तरह सर्कार की छबी की रक्षा करते है । उनका लक्ष्य सिर्फ यही होता है की राक्षसो से देव (सरकार) की रक्षा करे। जुर जब आदेश आये देवो के विरोधियो पे टूट पड़े ।
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 2 घंटे

 

Kulkamal Yadav
Kulkamal Yadav सरकारे एवं तथाकथित पत्रकार कुछ #भक्त किसान को भिखारी से ज्यादा बदतर समझ रही है।आज केंद्र में वही प्रधानमंत्री है जो अपनी माँ की गरीबी के किस्से सुना सुना कर मंच से रोया करता था अब प्रधानमंत्री बनते ही गरीबी दूर हुई तो गरीब किसान की बात कौन करे।वक़्त बदल रहा है मित्रो जिस दिन कोई दूसरा महेंद्र सिंह टिकैत पैदा हो जायेगा तो 10 रेसकोर्स में सर छुपाने की जगह नही मिलेगी।
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 2 घंटे

 

1 जवाब
Brajesh Patel
Brajesh Patel इस आंदोलन के बारे में आपने अर्धसत्य तो बोल दिया उसके लिये आभार Dilip C Mandal जी अब आगे का अर्धसत्य भी बता ही दीजिए
पसंद करें · जवाब दें · 2 घंटे

 

Dinesh Kumar
Dinesh Kumar लोन माफी सिर्फ माल्या जैसे गरीब लोगों के लिए है घी की रोटी खाने वाले किसानों को इसका कोई अधिकार नही।
पसंद करें · जवाब दें · 29 मिनट

 

Shiv Prasad
Shiv Prasad O esi liye ndtiv pass ke khto me pics or kar unlogo ko kishan bana rahe the
पसंद करें · जवाब दें · 4 घंटे

 

Maharshi Gautam
Maharshi Gautam इसी तरह पिछले साल jnu से उठे आन्दोलन को कुछ लोग जनऊ आंदोलन बता कर बदनाम कर रहे थे |रोहित वेमुला की सांस्थिनिक हत्या से उपजे आंदोलन के ताप को कम करने के लिय ऐसा किया गया था !जिसमे आपकी भूमिका अगुआ थी !
पसंद करें · जवाब दें · 4 घंटे

 

एके आरबी
एके आरबी kisano ka aandolan hai botel se paani pi rahe hai , sabhi ka ek common dress hai aur ek baat aandolan khatm ho gaya ab plan se apne ghar tamilnadu jaayenge …
पसंद करें · जवाब दें · 3 घंटे

 

Hitesh Hapaliya
Hitesh Hapaliya aap paise vale reservation lena bandh kare to inke bachwe mahenatse hi aage aa jayenge…please reply mandal ji
पसंद करें · जवाब दें · 30 मिनट

 

वीर सावरकर
वीर सावरकर चल वे चमन चूतिये।
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 5 घंटे

 

6 जवाब · 2 घंटे
Satyam Mishra
Satyam Mishra Vivek Tripathi Vijay Singh
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

Bhanwar Khemraj Singh

Bhanwar Khemraj Singh #इसी_के_साथ_ही तमिलनाडू के कलाकार ओह्हः सॉरी किसान लग्ज़री AC बस सेवा का आनंद उठाते हुए पाए गए😜😜😜😜

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 2 लोग, दाड़ी और बाहर
पसंद करें · जवाब दें · 4 · 3 घंटे

 

1 जवाब
Vikash Pathak
Vikash Pathak MCD Chunav khatam aur kisano ka dharna khatam kya baat hai
पसंद करें · जवाब दें · 4 · 4 घंटे

 

1 जवाब
Satyam Mishra
Satyam Mishra Gaurav Sikka
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 1 घंटा

 

1 जवाब
Deviprasad Tiwari

Deviprasad Tiwari

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 1 व्यक्ति
पसंद करें · जवाब दें · 3 · 4 घंटे

 

राजकुमार पासवान

राजकुमार पासवान

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग और बाहर
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

Naveen Kumar Gupta
Naveen Kumar Gupta Green peace नाम का संगठन लाया था मांडालवा भी ज़रूर शामिल होगा इस नौटंकी मे
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

2 जवाब · 4 घंटे
Bharat Bhushan Khanna

Bharat Bhushan Khanna

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग और बाहर
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 2 घंटे

 

Bharat Bhushan Khanna

Bharat Bhushan Khanna

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग और बाहर
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 2 घंटे

 

Jitendra Singh Bhati

Jitendra Singh Bhati ये क्या है बे अक्ल के दुश्मनों, मंडल जी के ससुराल वाले लेफ्ट पार्टियों के सदस्य है ,कोई किसान नहीं

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

नरेन्द्र तिवारी
नरेन्द्र तिवारी http://www.jansatta.com/…/social-media-calls…/306917/
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

Manoj Bhoj
Manoj Bhoj इतने ही अमीर हैं ये किसान तो लोन तेरा हलाला करने के लिये लिया था।
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 3 घंटे

 

Ashish Kumar
Ashish Kumar 5 लाख रुपए कच्चा बीघा।
90 हज़ार की अच्छी भैंस 10 लीटर दूध देने वाली।
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 5 घंटे

 

Deviprasad Tiwari

Deviprasad Tiwari

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 3 लोग, पाठ
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

रंजन जैन

रंजन जैन

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 3 लोग, बाहर
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

Dhanraj Lakhwani
Dhanraj Lakhwani जब मेहनत का खाते है तो लोनमाफी की भीख क्यों मांग रहे हैं
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

Er Manish Sinha
Er Manish Sinha तो कर्ज माफी की भीख मांग कर भिखारी क्यों बन रहे है मंडल बाबू
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

राजकुमार पासवान

राजकुमार पासवान

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 2 लोग
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

Chandarpal Saini

Chandarpal Saini मंडल बिकाऊ क्लम है …जो य़े लिखे सच्चाई उसके उल ही होती है …

कोई भी स्वचालित वैकल्पिक पाठ उपलब्ध नहीं है.
पसंद करें · जवाब दें · 2 · 4 घंटे

 

Rahul Tomar
Rahul Tomar दिचूम दिचूम ही रहेगा
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 2 घंटे

 

Jitendra Singh Bhati

Jitendra Singh Bhati

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग और बाहर
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

Bharat Bhushan Khanna

Bharat Bhushan Khanna

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग और बाहर
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 2 घंटे

 

रंजन जैन

रंजन जैन

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

रंजन जैन

रंजन जैन

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

Laxmi Kant Verma
Laxmi Kant Verma अन्ध्भक्तों को मिर्ची तो लगेगी ही इस लेख की सच्चाई से
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 3 घंटे

 

Anil Sikdaar
Anil Sikdaar क्या फर्क पड़ा, क्या बदला, पहले जमिंदार – साहूकार थे अब सरकार और बैंक है।
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

Vikky Shukla
Vikky Shukla Teri bahan ki chut madarchod bhdve
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 4 घंटे

 

2 जवाब · 4 घंटे
Avtar Baisla
Avtar Baisla अम्मा कैंटीन
अम्मा मंगलसूत्र
अम्मा मिक्सीऔर देखें
पसंद करें · जवाब दें · 1 · 15 मिनट

 

Pratap Sahoo

Pratap Sahoo

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 2 लोग
पसंद करें · जवाब दें · 17 मिनट

 

केशव पंडित
केशव पंडित लोल सलाम साथी
पसंद करें · जवाब दें · 1 घंटा

 

प्रदीप कुमार
प्रदीप कुमार सही कह रहे है एक बीघे जमीन में कई सेकंड हैण्ड गाडी आ सकती है पर इन पैसो से कर्ज नही अदा कर सकते है।
पसंद करें · जवाब दें · 2 घंटे

 

अब्दुल रहींम कायमखानी

अब्दुल रहींम कायमखानी

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग, लोग बैठ रहे हैं, बाहर और प्रकृति
पसंद करें · जवाब दें · 5 मिनट

 

अब्दुल रहींम कायमखानी

अब्दुल रहींम कायमखानी

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 1 व्यक्ति, खड़े रहना, कार और बाहर
पसंद करें · जवाब दें · 5 मिनट

 

अब्दुल रहींम कायमखानी

अब्दुल रहींम कायमखानी

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग और बाहर
पसंद करें · जवाब दें · 5 मिनट

 

अब्दुल रहींम कायमखानी

अब्दुल रहींम कायमखानी

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 3 लोग, पाठ
पसंद करें · जवाब दें · 5 मिनट

 

Qazi Nadeem Haider
Qazi Nadeem Haider too good
beraham janwar media.
पसंद करें · जवाब दें · 4 घंटे

 

Makhdoom Ali
Makhdoom Ali मीडिया पगला गया है. koi shaq nahi hai sir ji
पसंद करें · जवाब दें · 3 घंटे

 

Pranayy Raj
Pranayy Raj अरे वो ब्राह्मण थे महाराज आप क्यों खिसिया रहे…..
पसंद करें · जवाब दें · 1 घंटा

 

Aniket Gaikwad
Aniket Gaikwad करारा जवाब दिया है सर।
पसंद करें · जवाब दें · 2 घंटे

 

Abhay Kumar
Abhay Kumar किसान बिरोधी है सभी भक्त ! अगर ये किसान करोडपती है तो इन्होने लौंन क्यू लिया !
पसंद करें · जवाब दें · 3 घंटे

 

Varun Kumar
Varun Kumar Bhut sandar
पसंद करें · जवाब दें · 4 घंटे

 

Dinesh Kumar
Dinesh Kumar सबके सब गौ भक्त किसान बिरोधी भि हैं …अब पता लग रहा है
पसंद करें · जवाब दें · 3 घंटे

 

Seema Shakya
Seema Shakya क्या धांसू सच कहा है भाई जी👍👍👌👌
पसंद करें · जवाब दें · 1 घंटा

 

Rawish Kumar
Rawish Kumar बहुत खूब मंडल जी, क्या धुलाई की है! किसानों को अधिकार के लिए एकजुट होना ही होगा।
पसंद करें · जवाब दें · 3 घंटे

 

Karan Boxer
Karan Boxer Bilkul sahi
पसंद करें · जवाब दें · 2 घंटे

 

Anil Kumar
Anil Kumar खूब खरी खोटी सुनाई सच भी है
पसंद करें · जवाब दें · 3 घंटे

 

भिक्खु म्हात्रे

भिक्खु म्हात्रे

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग, लोग खड़े हैं, बाहर और प्रकृति
पसंद करें · जवाब दें · 1 घंटा

 

Neeraj Kumar
Neeraj Kumar Sahi baat kahi sir purdtah sahmat
पसंद करें · जवाब दें · 4 घंटे

 

Rahul Kumar
Rahul Kumar very nice line
पसंद करें · जवाब दें · 3 घंटे

 

125 में से 104
और टिप्पणियां देखें





Related News

  • एक सरकारी विद्यालय और एक शिक्षक भिखारी महतो जैसा भी!
  • गोपालगंज में भूमिहार सम्मेलन कही राजनीति का आखाड़ा न बन जाए?
  • कटहे कुक्कुर की तरह रिपब्लिक टीवी वाले, क्या पीएम से पूछेंगे हे हे मोदी जी, जरा बताइए कि आपकी डिग्री का सच कब सामने आएगा?
  • मैं दसवीं में था पड़ोस के मास्टर ने मुझसे जंचवाई थी 8वीं बोर्ड की कॉपी!
  • कब तक बदहाली में रहेंगी थावे की भवानी
  • बिहार का एक गांव, जहां आईएएस की पत्नी बनी मुखिया, तो बदलने लगी है गांव की तस्वीर
  • पागल मीडिया पूछ रहा है-किसान बोतल का पानी क्यों पी रहे थे? अरे महाराज, किसानों का आंदोलन है. भिखारियों और पुजारियों की सभा नहीं
  • अयोध्या पर छलका गिरीश राय का दर्द, कहा-जिन रामभक्तों के खून से नालियां लाल हुई, उनके हत्यारों को सीबीआई ने दोषी नहीं पाया
  • Comments are Closed