Siwan

 
 

क्या खेसारी खिसकाना चाहता है बाहुबली प्रभुनाथ सिंह की राजनीतिक जमीन!

27 अक्टूबर 2018 को वैशाली जिले के बिदुपुर के चकौसन बाजार में शहीदों के सम्मान में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था “एक शाम शहीदों के नाम”. इस कार्यक्रम में भोजपुरी गायक खेसारी लाल यादव ने गाना शुरू ही किया था कि वहां पत्थरबाजी शुरू हो गई. कार्यक्रम में भगदड़ मच गई. खेसारी लाल यादव और उनके साथी कलाकार किसी तरह जान बचाकर भागे. मौके पर पहुंचे कई पुलिसवालों को भी चोट लग गई. बाद में कार्यक्रम के आयोजकों के खिलाफ केस दर्ज किया गया. खेसारी लाल यादव और सुधीरRead More


जदयू अध्यक्ष सह विधायक प्रतिनिधि ने ब्लॉक कर्मी को दिया जान से मारने कि धमकी

बिहार कथा, जीरादेई। जीरादेई मुख्यालय पर आज मारपीट का मामला प्रकाश में आया है जीरादेई मुख्यालय में लिपिक पद पर स्थित विकाश कुमार श्रीवास्तव ने थाना में आवेदन देकर आरोप लगाया कि किसी योजना के बारे में जानकारी लेने आये जदयू के प्रखंड अध्यक्ष सह विधायक प्रतिनिधि राजकुमार ठाकुर लेते-लेते मारपीट पर तुल गए तुले ही नही बल्की मारपीट करना चालू कर दिया। साथ ही ब्लॉक के कुछ जरुरी कागजात को भी फार दिया । जिसका हम सभी ब्लॉक कर्मी विरोध करने लगे तो धमकी दिए कि जो भी लोगRead More


शहाबुद्दीन के शॉर्प शूटर तबरेज आलम को गोलियों से भूना

बिहार कथा, पटना। पटना में दिनदहाड़े शहाबुद्दीन के शॉर्प शूटर (38वर्ष) तबरेज आलम को गोलियों से भून दिया गया। शुक्रवार दोपहर 3 बजे घटना तब हुई जब तबरेज आलम नमाज अदा कर वापस अपनी गाड़ी में बैठने जा रहा था। जैसे ही वह कोतवाली थाने की बाउंड्री से सटी सड़क पर पहुंचा और गाड़ी का गेट खोलने को आगे बढ़ा, बाइक सवार अपराधियों ने दनादन गोलियां बरसा दीं। एक बाइक पर दो की संख्या में आये नकाबपोश शूटरों ने उस पर छह राउंड गोलियां बरसायीं। गोली लगते ही तबरेज गिरRead More


अब्दुल गफ़ूर : बिहार का एक ऐसा सीएम, जिसे दो ब्राह्मणों ने षड्यंत्र कर हटवा दिया था

स्मृति शेष  अब्दुल गफ़ूर बतौर मुख्यमंत्री 2 वर्षों तक रहे. वह 2 जुलाई 1973 से 11 अप्रैल 1975 तक बिहार के सीएम रहे। 1975 में तत्कालीन प्राधानमंत्री इंदिरा गांधी ने उनकी जगह जगन्नाथ मिश्रा को मुख्यमंत्री बनवा दिया. कहा जाता है कि गफूर के खिलाफ उनके ही दल में बड़ी साजिश की गयी जिसका उन्हें बखूबी एहसास था. केदार पाण्डे और जगन्नाथ मिश्र के बीच अब्दुल गफ़ुर पीस कर रह गए पर उन्होने हार नही माना. 1984 मे कांग्रेस के टिकट पर सिवान से जीत कर सांसद बने और वेRead More


Share
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com