sex

 
 

कामसूत्र के देश में मीटू

पुष्यमित्र इस बार मीटू अभियान चल निकला और असर दिखाने लगा है. सवाल कई कथित रूप से समझदार लोगों के दागदार होने का नहीं है. मसला यह है कि लोग अब समझने और सचेत होने लगे हैं कि स्त्रियों के मामले में उनकी हद क्या है. यह अभियान उसी हद को अपने तरीके से परिभाषित कर रहा है. दुखद तथ्य यह है कि भारत जैसे देश में जहां दो हजार साल पहले ही कामसूत्र लिखा चला गया था, वहां यह सब हो रहा है. लोग इतने अनाड़ी हैं कि ठीकRead More


Share
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com