जयंती पर याद किये गए मौलाना मजहरुल हक

गोपालगंज। मौलाना साहब देश के समर्पित स्वतंत्रा सेनानी प्रखर शिक्षाविद अग्रणी समाज सेवक लेखक और बिहार के विभूतियों में एक मौलाना मजहरुल हक भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक ऐसे योद्धाओं में रहे हैं जिन्होंने अश्वरीय योगदान के बावजूद इतिहास और देश में लगभग भुला दिया है मगर गोपालगंज में मौलाना मजहरुल हक फाउंडेशन इन की जयंती हर साल धूमधाम से मनाती है कभी इनके जयंती पर ब्लड डोनेशन का कैंप लगाती है तो कभी गरीबों भूखों को खाना खिलाती है ठीक वैसे ही आज गोपालगंज शहर के अंबेडकर भवन में इनकी जयंती धूमधाम से मनाया गया जिसमें बिहार सरकार के पूर्व मंत्री इखलाक अहमद साहब स्नातक सारण प्रमंडल क्षेत्र के विधान पार्षद डॉ वीरेंद्र नारायण यादव भी उपस्थित रहे हजारों की संख्या में आज शहर के अंबेडकर भवन में दूरदराज से आए लोग इस कड़ाके की ठंड में भी सुबह 11:00 बजे से शाम 4:30 बजे तक डटे रहे जिसके बाद मौलाना मजहरुल हक फाउंडेशन के सदस्यों के द्वारा 327 लोगों के बीच में कंबल का वितरण किया गया दूरदराज से आए गरीब असहाय लोगों को बीच में कंबल का वितरण किया गया वह गरीब असहाय कमल पा कर इतने खुश हुए कि मानो कि उनको अद्भुत सम्मान प्राप्त हो चुका है सामाजिक क्षेत्र में कार्य कर रहे दर्जनों संगठनों को सम्मानित पत्र देकर मौलाना मजहरुल हक फाउंडेशन के सदस्यों ने सामाजिक क्षेत्र में कार्य कर रहे संगठनों को सम्मानित किया हेलमेट मैन से जाने जाने वाले शाहिद को भी सम्मानित किया 13 बार रक्तदान कर चुके पवन कुमार को भी एमएम फाउंडेशन ने सम्मानित पत्र देकर सम्मानित किया पंचायत स्तरीय कार्य कर रहे जन विचार तिरबिरवां पंचायत के सदस्यों को एम् एम् फाउंडेशन के सदस्यों ने सम्मानित किया मौलाना मजहरुल हक फाउंडेशन के सेक्रेटरी ने अपनी चंद शब्दों में बहुत बड़ी बात कहते हुए शाह आलम साहब ने एक शेर के माध्यम से अपनी शायरी करते हुए बताया कि
बांट दिया इस धरती को क्या चांद सितारा क्या होगा
नदियों का कुछ नाम रखे बहती धारों का क्या होगा शिव की गंगा बहती है आबे जमजम को भी बहना है मूला भी पिए पंडित भी पिए पानी का मजहब क्या होगा
अगर इन फिरका परस्तओं से पूछो क्या सूरज अलग बना दोगे
एक हवा के साथ हैं सब की हवा भी नहीं चला दोगे नस्लों का करे जो बंटवारा वह कौम का ढोंगी है
और क्या खुदा ने मंदिर तोड़ा था या राम ने मस्जिद तोड़ी थी
इस कार्यक्रम में उपस्थित इकलाख अहमद पूर्व मंत्री पूर्व विधायक तनवीर हसन आकाशवाणी के एवं मशहूर शायर शंकर कैमुरी फाउंडेशन के अध्यक्ष आफताब आलम फाउंडेशन सचिव शाह आलम शहजाद अली अफाक खन इरफान अली गुड्डू सदमान अली अनवर अली पप्पू सुभान सर मेराजुद्दीन तिशना समेत कई लोग उपस्थित थे।






Related News

  • इस तरह भाजपा में एक गैंग के शिकार बनें जनकराम और ऐसे हुई डा सुमन की जदयू में एंट्री
  • लोकसभा चुनाव 2019: बिहार के सुशासन नगर में ‘लालटेन’ ही फैला रही है रौशनी
  • आरक्षण बचाने व 13 प्वाइंट रोस्टर के खिलाफ हथुआ में विरोध प्रदर्शन
  • हथुआ के गोपश्वर कॉलेज का नाम बदला, अब लॉ और पत्रकारिता की भी होगी पढाई
  • राज्यपाल के आगमन को लेकर सजा हथुआ पैलेस
  • इंस्पेक्टर विरेन्द्र कुमार को मिली हथुआ थानाध्यक्ष की कमान
  • जानिये क्या हुआ जब हथुवा में जब हेलिकॉप्टर से पहुंचा दुल्हा
  • मीरगंज के आलम हॉस्पीटल में सैनिकों के परिजनों का होगा मुफ्त इलाज
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com