गोपालगंज : छुट्टी विवाद में एक डॉक्टर ने दूसरे डाक्टर पर दारू पीने का आरोप लगा कर कराया गिरफ्तार!

जिस डॉक्टर ने दारू पीने का आरोप लगाया, उसी ने ही मेडिकल जांच रिपोर्ट तैयार कर ली
बिहार कथा न्यूज नेटवर्क. गोपालगंज। प्रखंड मुख्यालय स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बीते सोमवार की रात ड्यूटी पर तैनात एक चिकित्सक पर शराब के नशे में मोबाइल से कॉल पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को जमकर गालियां देने का आरोप लगा. लेकिन इस प्रकरण में एक और हकीकत सामने आ रही है.रात में ड्यूटी पर अकेले तैनात चिकित्सक प्रभारी शाहिद नाजमी चिकित्सा पदाधिकारी डा अशोक पर ड्यूटी नहीं करने के लिए दबाव बना रहे थे। मिली जानकारी के अनुसार विवाद इसी बात को था कि चिकित्सा पदाधिकारी का ड्यूटी नहीं थी. और चिकित्सा प्रभारी शाहिद नाजमी अकेले ड्यूटी नहीं बजाना चाहते थे. लिहाजा, विवाद आगे बढा. आरोप गाली गलौच और मारपीट तक का है. लेकिन इस पूरे प्रकरण में एक जो सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जिस प्रभारी चिकित्सा ने चिकित्सा पदाधिकारी पर दारू पीने का आरोप लगाया, उसी ने ही उसकी मेडिकल जांच रिपोर्ट तैयार कर दी. आरोप लगाने वाले के रिपोर्ट पर ही चिकित्सा पदाधिकारी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. जबकि डा अकेला दूसरे मेडिकल अफसर से जांच के आधार पर अडे थे. मिली जानकारी के अनुसार 5 नवंबर को डॉ. अकेला जब अपने लिए छूटी की अर्जी दिए तो अस्पताल मैनेजर ने उनकी छूटी रद्द करते हुए कहा कि आपको तो दीवाली के दिन भी डयूटी करनी होगी इसी बात पर डॉ. अकेला का मैनेजर के साथ बहस हो गई फिर चिकित्सा प्रभारी शाहिद नाजमी को फोन किया गया और जब वो आये तो मैनेजर का पक्ष रखते हुए थाना को लिखित शिकायत की और एफआईआर की मांग की. डॉ. अकेला ने अपना बचाव करते हुए कहा कि मैं शराब पिया हुं की नही इसकी पुष्टि जिला अस्पताल के डॉक्टरों से कर ली जाय। लेकिन चिकित्सा प्रभारी ने स्वत: संज्ञान लेते हुए झूठी रिपोर्ट लिखा जबकि पुलिस ने भी दूसरे डॉक्टर से जांच करना जरूरी नही समझा उसके बाद डॉ. अकेला को जेल भेज दिया गया। फिर रिपोर्ट सारि सच्चाई बयां करती है। पूरे प्रकरण पर चिकित्सा प्रभारी शाहिद नाजमी से संपर्क करने की कोशिश की गई तो खबर लिखे जाने तक बातचीत नहीं हो पाई.





Related News

  • गोपालगंज में खुला रोटी बैंक
  • हथुआ में हथियार के बल पर 4 लाख की लूट
  • खुद बीमार हो गया तिरबिरवां पंचायत का स्वास्थ्य केन्द्र
  • महिलाओं की बदहाली के खिलाफ सावित्री बाई फुले ने फूंका था क्रांति का बिगुल
  • गोपालगंज के पं दीनदयाल स्टेडियम पर लगी कुव्यवस्था की डायन !
  • जयंती पर याद किये गए मौलाना मजहरुल हक
  • कमला राय कॉलेज में कुव्यवस्था के खिलाफ छात्रों ने प्राचार्य का पुतला फूंका
  • दर्दनाक! मां के अंतिम संस्कार को बेटी ने भीख मांग जुटाए पैसे
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com