आखिर पप्पू पांडे ने शिवकुमार उपाध्याय को क्यों घेरा?

आखिर पप्पू पांडे ने शिवकुमार उपाध्याय को क्यों घेरा?

देखें वीडियो

सही कौन और गलत कौन.तय आप खुद करें
बिहार कथा न्यूज नेटवर्क. गोपालगंज. कुचायकोट विधानसभा क्षेत्र में शामपुर बाजार के पास आसंदापुर में भाजपा के वरिष्ठ नेता शिव कुमार उपाध्याय को क्षेत्र के विधायक अमरेंद्र पांडे उर्फ पप्पू पांडे व उनके समर्थकों ने घेर लिया. अभद्र बातें हुई. इसका वीडियो भी बना. दोपहर बाद शिव कुमार उपाध्याय ने अपने फेसबुक पेज पर इस वीडियो को एक कुछ मर्मस्पर्शी शब्द लिख कर डाला. आधी रात तक दोनों वीडियो मिलाकर करीब दस हजार बार व देखा जा चुका था. लेकिन सवाल यह है कि आखिर वह कौन से कारण थे, जिससे आहत होकर विधायक ने इन्हें घेर लिया.
बिहार कथा को मिली जानकारी के अनुसार विवाद शुरू होता है मतया गांव में एक सडक की जमीन से. लेकिन इसे पूर्व की थोडी सी हिस्ट्री भी जान लें.
मतेया जहां, से शिव कुमार उपाध्याय पिछले पंचायत चुनाव में मुखिया का इलेक्शन हार गए. यह गांव मुस्लिम बाहुल्य है. सूत्र बताते हैं कि जब शिवजी को मतया में मुखियई में शिकस्त मिली तो थोडे से मतभंगू टाइप हो गए. मन में इस बात की टीस हुई कि यह इलेक्शन उन्होंने मुस्लिमों के वोट नहीं देने के कारण हारें हैं. जहां मुस्लिमों की अबादी है,वहां करीब पांच छह बीघे का एक प्लॉट शिव कुमार उपाध्याय का बताया जा रहा है. काफी दिनों तक जमीन परती होने के कारण स्थानीय निवासी वहां से रेगुलर आने जाने लगे. लिहाजा, उस जमीन पर एक अघोषित कच्ची सडक हो गई. पिछले करीब दो महीने पहले जब बारिश के दिनों ने पाक किच्चड से स्थानीय लोगों को चलना दुभर हुआ तो वे लोग विधायक पप्पू पांडे की शरण में गए और मिट्टी डालने की गुहार लगाई. पप्पू पांडे ने वहां मिट्टी गिरवाने का कमिटमेंट किया. इस काम की जिम्मेदारी वहां अनिल पांडे को दी गई. जब अनिल पांडे ने विधायक पप्पू पांडे का आदेश तामिल करने मतेया पहुंचे तब शिव कुमार उपाध्याय ने प्रतिरोध किया. काफी तनाना तनी हुई. इसी तनातनी ने शिवकुमार उपाध्याय ने पप्पू पांडे की मां की गाली दी. एक बार नहीं दो से तीन बार. इतना ही नहीं, शिवकुमार उपाध्याय ने पप्पू पांडे की गाडी फूंक देने तक की बात कही. विवाद इतना बढा कि दोनोंं ओर से गोली तक चल चली. लेकिन किसी पक्ष ने इस प्रकरण में एफआईआर दर्ज नहीं करवाया.
संयोग देखिए जिस तरह आज की घटना के दौरान कोई वीडियो बना रहा था, उसी तरह उस दिन की घटना की भी रिकॉर्डिंग हो रही थी. किसी ने वह रिकॉर्डिंग पप्पू पांडे को सुनाई. अपनी मां की गाली सुन कर पप्पू पांडे तमतमा गए. गुस्सा इतना आया कि दशहरे में चित्रकुट में स्नान के बाद भी क्रोध शांत नहीं हुआ.आज उनके काफिले ने शिवकुमार उपाध्याय को घेर लिया. और उसके बाद जो कुछ भी हुआ, उसका वीडियो शिवकुमार उपाध्याय ने यह लिखते हुए अपने फेसबुक टाइमल लाइन पर शेयर किया है
मित्रों आज 
मेरे साथ एक दुःखद घटना घटी है।आज दिन के करीब 12 बजे अपनी भतीजी की शादी के संबंध में बात करने हेतु अपने सगे संबंधियों के साथ उतर प्रदेश में जा रहा था।अभी शामपुर बाज़ार के आगे बढ़ा ही था कि कुचायकोट विधानसभा के विधायक अमरेन्द्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय ने अपनी छह गाड़ीयों और गुर्गो के साथ मेरी गाङी को घेर लिया और पप्पू पांडेय ने नीचे उतरने को कहा ।जैसे ही मैं नीचे उतना मुझे माँ, बहन की गालियाँ देने लगे मैंने उनसे कहा कि ऐसा आप क्यों कर रहे है तो बोले कि अभी बीस गोली मारकर फेक देंगें ,अभी झार देंगें।इसी बीच स्थानीय लोग आ गए तथा बीच बचाव किया तब जाकर हमारी जान बची।जाते हुए बिधायक ने हमें जान से मारने की धमकी दी है। साथियों इस तरह का गुंडागर्दी का आचरण एक विधायक का हमारे समझ से परे है। 
…आखिर पप्पू पांडे ने शिव कुमार उपाध्याय को क्यों घेरा….
सही कौन और गलत कौन…तय आप खुद करें…





Related News

  • हथुआ के शराबियों पर क्रेजी रोमियों का कहर, एक महीने में कई मरें!
  • गोपालगंज में लडकी को मारा धाका, पब्लिक ने बाइक सवार को बनाया बंधक, लडकी गोरखपुर रेफर
  • अमरेंद्र पांडे के खिलाफ जांच करेंगे उचकागांव थाना के दरोगा जी!
  • अस्पताल से नवजात को मुंह में उठाया और चबा कर खा गया सुअर
  • क्या आप जानते हैं गोपालगंज में एक संगीत महाविद्यालय भी चलता है..
  • MLA पप्पू पांडे औरBJP नेता शिव कुमार उपाधयाय के विवाद का vedio
  • आखिर पप्पू पांडे ने शिवकुमार उपाध्याय को क्यों घेरा?
  • बिहार नवरात्रि में बलि के नाम अपने ही बेटे के सिर में ठोकी कील
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com