गोपालगंज : तीन साल पहले भी उपेंद्र सिंह को मारी थी गोली, तब बच गए थे

बिहार कथा, हथुआ। गोपालगंज के मीरगंज थाना क्षेत्र के मटिहानी नैन पंचायत के तत्कालीन मुखिया पति सह जेडीयू के जिला महासचिव उपेंद्र सिंह कुशवाहा को 15 अप्रैल 2015 को भी गोली मार कर गंभीर रूप से जख्मी कर दिया गया था । उन्हें गंभीर रूप से हथुआ अनुमंडलीय अस्पताल मे भर्ती कराया गया था । जहां से उन्हें रेफर कर दिया गया था । हालांकि इस घटना मे उनकी जान बच गयी थी । अपराधियो ने पंचायत के रानीबाड़ी बागीचा के समीप गोली मारी थी । घटना के समय जदयू के जिला महासचिव उपेंद्र सिंह पार्टी के विधायक रामसेवक सिंह से मिलकर दोपहर मे बाइक से अपने घर मटिहानी नैन गांव लौट रहे थे, तभी एक अन्य बाइक पर सवार दो की संख्या में अपराधियों ने पीछा कर उन्हें गोली मार दी थी । बताया जता है कि कुशवाहा ने अवैध शराब कारोबारियों का विरोध किया था और संभवत: इसी को लेकर उनपर हमला हुआ था । मामले मे तब मुखिया के बयान पर तीन लोगो पर प्राथमिकी हुई थी । जिसमे राम प्रवेश सिंह , करण सिंह व विशाल सिंह को नामजद किया गया था । । उस वक़्त कुशवाहा की पत्नी नीलम देवी मटिहानी नैन ग्राम पंचायत की मुखिया थी ।






Related News

  • गोपालगंज में खुला रोटी बैंक
  • हथुआ में हथियार के बल पर 4 लाख की लूट
  • खुद बीमार हो गया तिरबिरवां पंचायत का स्वास्थ्य केन्द्र
  • महिलाओं की बदहाली के खिलाफ सावित्री बाई फुले ने फूंका था क्रांति का बिगुल
  • गोपालगंज के पं दीनदयाल स्टेडियम पर लगी कुव्यवस्था की डायन !
  • जयंती पर याद किये गए मौलाना मजहरुल हक
  • कमला राय कॉलेज में कुव्यवस्था के खिलाफ छात्रों ने प्राचार्य का पुतला फूंका
  • दर्दनाक! मां के अंतिम संस्कार को बेटी ने भीख मांग जुटाए पैसे
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com