जयंती पर याद किए गए पूर्व पीएम वीपी सिंह

Bihar Katha, Goplganj. पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह को उनकी 87वें जन्मदिन पर याद किया गया. दलित ओबीसी जन जागणरण मंच की ओर से आयोजित एक सभा में वी पी सिंह के कार्यो को याद किया गया. संघ के संयोजक संजय कुमार ने कहा कि वीपी सिंह इस देश मे मानव और मानवता की भलाई के लिए फैसले लेने वाले गौतम बुद्ध और शाहूजी महाराज के बाद पैदा होने वाले मात्र तीसरे राजा, जिनके 7 अगस्त 1990 को लिए गए फैसले की वजह से ओबीसी को सरकारी नौकरियों में 27 फीसदी आरक्षण मिलने की आधारशिला रखी गई. उनके इस फैसले के विरोध में उपर कास्ट के छात्र सड़को पर उतर आए. आत्मदाह का प्रयास होने लगा. संजय कुमार ने कहा कि वी पी सिंह के मंडल कमीशन लागू करने के फैसले के कारण गुस्सा और विरोध से यह साबित हो गया कि देश में जाति की जडें कितनी गहराई तक पसरी हुई हैं. मंडल कमीश की कुछ सिफारिशे लागू करना जाति की जडें को हिलाने की तरह था. उन्होंने कहा कि वी पी सिंह ने मंडल आयोग की फिसारिशें लागू कर सरकारी नौकरी में ओबीसी के लिए दरवाजे खोले, लेकिन आज भी ओबीसी की सैकडों जातियां अपर कास्ट होने के भ्रम में पडी हैं तथा आरक्षण के लाभ से दूर हैं.

(प्रेस विज्ञाप्ति)






Related News

  • मुकेश पांडेय के हाथों रिमॉडलिंग हेल्थ सेंटर जनता को समर्पित
  • हमरा मालिक के बोलवा दी ए एमपी साहेब, राउर जीनगी भर एहसान ना भूलेम !
  • मुखिया पति के मर्डर पर आक्रोशित हुए हथुआ प्रखंड के जनप्रतिनिधि
  • गोपालगंज : तीन साल पहले भी उपेंद्र सिंह को मारी थी गोली, तब बच गए थे
  • बेगूसराय में एससी एसटी कानून के खिलाफत में आया सवर्ण समाज
  • गोपालगंज : बरौली कोल्ड स्टोरेज ने किसानों को दिया धोखा
  • छठिहार महोत्सव : कान्हा की भक्ति में डूबा हथुआ शहर
  • छठिहार महोत्सव को लेकर सजा हथुआ का गोपाल मंदिर
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com