ब्राह्मण ने दलित को बिजली चोरी के लिए पोल पर चढाया, करंट से मौत

ब्राह्मण ने दलित को बिजली चोरी के लिए पोल पर चढाया, करंट से मौत
बिहार कथा न्यूज नेटवर्क
गोपालगंज/ हथुआ: गोपालगंज जिले के हथुआ प्रखंड के चैनपुर पंचायत के चैनपुर गांव में पूर्व सरंपच राकेश पांडे ने अपने भतीजे के तिलक समारोह में बिजली चेारी के लिए एक दलित युवक को पोल पर चढाया, जिससे उसे करंट लगी और उसकी मौत हो गई. अब मौत के बाद मामले को रफा दफा करने की पूरी कवायद चल रही है. बताया जा रहा है कि इस प्रकरण में आपसी पंचायत कर मृतक युवक के परिजनों को दो ढाई लाख रुपए देने की बात कह कर थाने में एफआईआर दर्ज कराने से रोक दिया गया है. वहीं हथुआ थानाध्यक्ष बिमल कुमार सिंह ने इस प्रकरण में अपनी स​क्रियता दिखाने के बजाय यह कह कर पल्ला झाडने की कोशिश की है कि इस मामले में अभी तक कोइ लिखित शिकायत पुलिस को नहीं मिली है. मामला संज्ञान में आने के बाद यूडी केश के तहत मामले को दर्ज कर जाँच– पड़ताल की जा रही है. इस मामले में जो भी दोषी है उन्हें किसी भी हालत में बक्शा नही जाएगा. ज्ञात हो कि यूडी केश अप्राकृतिक मौत की आशंका का केस होता है. बिजली के करेंट से मरने वाला युवक बरीईशर पंचायत के रेपुरा गांव के दलित बस्ती के संतरी राम का अठारह वर्षीय पुत्र बिरेन्द्र कुमार राम है.
लाश का अवैध तरीके से ठिकाना लगाना चाहते थे
घटना के बारे में बताया जा रहा है की चैनपुर गांव में पूर्व सरपंच राकेश पाण्डेय के भतीजे के तिलक समारोह में अटवा दुर्ग गांव के बैजनाथ चौधरी उर्फ़ बैजू चौधरी के टेंट में युवक टेंट कर्मी के तौर पर कार्य करने के लिए गया हुआ था. समारोह में फोकट की बिजली के लिए उसे बिजली के पोल पर से तार जोड़ के लिए पोल पर चढने को कहा गया. इसके ​लिए जब वह बिजली के पोल पर चढा तो हाई बोल्टेज तार के चपेट में आते ही अकाल मौत का शिकार हो गया. उसके बाद आनन – फानन में गृह स्वामी पूर्व सरपंच राकेश पाण्डेय एवं टेंट संचालक बैधनाथ चौधरी उर्फ़ बैजू चौधरी के दोनों बेटो ने इलाज के लिए सिवान लेकर गए. जहा किसी प्राईवेट नर्सिंग होम के डाक्टर ने युवक को मृत घोषित कर दिया. उसके बाद लाश को ठिकाने लगाने के लिए टेंट कर्मी एवं गृह स्वामी राकेश पांडे सिवान के तरफ ही प्रयास में जुट गए. लेकिन युवक की मौत की खबर परिजनों की मिल गई. परिजनों के दबाव के बाद युवक के लाश को परिजनों को कल देर शाम तक सौपा गया.
लालच देकर लाश का करवाया अंतिम संस्कार
प्रखंड के बरीईशर पंचायत के रेपुरा गांव में मातमी सन्नाटा छाया हुआ हुआ है . मृत युवक 18 वर्षीय बिरेन्द्र कुमार राम के माता – सितमी देवी 65 वर्ष एवं पिता संतरी राम अपने जवान बेटे के मौत के बाद से घर में असहाय एवं बेसुध पड़े हुए है. मृत युवक की माँ अपने जवान बेटे की मौत के सदमे से निकल नही पा रही है. वह बार–बार बेसुध हो जा रही है.वही पिता संतरी राम भी बार– बार अपने बेटे के मौत के बाद से अचेत हो जा रहे है.रोते–रोते माँ बार – बार यही कह कर अचेत हो जा रही है की कोइ तो मेरे लाल को ला दे. हमलोगों के बुढ़ापे की लाठी पर आखिर किसकी नजर लग गयी. संतरी राम का सबसे बड़ा बेटा था बिरेन्द्र राम जो की टेंट में मेहनत मजदूरी करके के अपने बूढ़े माँ – बाप के भरण – पोषण करता था. सूत्रों का कहना है कि उसकी मौत के बाद उसके परिवार वालों को पूर्व सरपंच राकेश पांडे व बिरेंद्र के गांव के पूर्व मुखिया सतेंद्र सिंह द्वारा किसी तरह के कोइ केश न करने के लिए परिजनों पर दबाव बनाया गया. साथ ही यह कहा गया है कि उन्हें मुआवजे के रूप में ढाई लाख रुपए का लालच देकर लाश का दाह संस्कार करवा दिया गया, जिससे मामला रफा दफा हो जाए. उपरोक्त मामले में राकेश पांडे व सतेंद्र सिंह का पक्ष लेेने के लिए संपर्क साधा गया तो खबर लिखे जाने तक संपर्क नहीं हो पाया.






Related News

  • हथुआ के शराबियों पर क्रेजी रोमियों का कहर, एक महीने में कई मरें!
  • गोपालगंज में लडकी को मारा धाका, पब्लिक ने बाइक सवार को बनाया बंधक, लडकी गोरखपुर रेफर
  • अमरेंद्र पांडे के खिलाफ जांच करेंगे उचकागांव थाना के दरोगा जी!
  • अस्पताल से नवजात को मुंह में उठाया और चबा कर खा गया सुअर
  • क्या आप जानते हैं गोपालगंज में एक संगीत महाविद्यालय भी चलता है..
  • MLA पप्पू पांडे औरBJP नेता शिव कुमार उपाधयाय के विवाद का vedio
  • आखिर पप्पू पांडे ने शिवकुमार उपाध्याय को क्यों घेरा?
  • बिहार नवरात्रि में बलि के नाम अपने ही बेटे के सिर में ठोकी कील
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com