गोपालगंज के सबसे बड़े फिडर का ऐसा हाल, कभी 5-5 दिन नहीं आती बिजली

बिहार कथा , गोपालगंज. जन विचार तिरबिरवां पंचायत के माध्यम से एक आवेदन पत्र सहायक विद्युत अभियंता को सौप कर इस बात से अवगत कराया गया की तिरबिरवां पँचायत जो जादोपुर फिटर में आता हैं और यह फिटर शायद गोपालगंज का सबसे बड़ा फिटर है इस फिटर की स्तिथि यह है कि आसमान में बादल देखर या थोड़ी सी हवा चलने के बाद एवं बूंदाबांदी होने के बाद बिजली तुरंत काट दिया जाता हैं और बिजली 1 या दो घण्टा नही बल्कि कभी कभी सप्ताह में 4 से 5 दिन तक गुल हो जाती हैं जिससे तिरबिरवां पँचायत के आम जनता इतनी भिषर गर्मियों का सामना करने को मजबूर हो जाते हैं । इसी पँचायत में एक हरपुर गांव हैं जिस गांव में बरौली और काकर कुंड फिटर हैं जहाँ भरपुर मात्रा में बिजली उपलब्ध होती हैं *सहायक विद्युत अभियंता* से मांग किया गया कि हम सब का पूरा पंचायत बरौली फिटर यहां काकड़ कुंड फिटर में जोड़ दिया जाए कि हम सबके पंचायत का जो बिजली की समस्या है वह दूर हो जाए तिरबिरवां पंचायत में कैंप लगाने का मकसद यहां के जनता की परेशानियों का हल करना है तो ग्राम पंचायत की जनता को इससे बड़ा कोई परेशानी नहीं है कि घर में बिजली कनेक्शन है पर पर्याप्त मात्रा मे या जरूरत के अनुसार बिजली उपलब्ध नहीं हो पाती है *सहायक विद्युत अभियंता* के द्वारा बताया गया कि जादोपुर फिटर को खंडित किया जाएगा जिसके लिए जादोपुर दुखहरण पंचायत के आसपास जमीन देखी जा रही है इस पर *जन विचार तिरबिरवां पंचायत* के माध्यम से तत्काल समस्या को दूर करने का बात कही गई सहायक विद्युत अभियंता आवेदन पत्र लेते हुए तिरबिरवां पंचायत के आम जनता को यह तसल्ली दी है कि आप सबका प्रॉब्लम बहुत जल्द सुलझा दिया जाएगा । इस जादोपुर फिटर में बिजली की तार पूरी तरह से जर्जर हो चुकी है जिससे आए दिन समस्याएं बनी रहती है कई कई बार दुर्घटनाएं हो चुकी है पिछली बार ही 11,000 वोल्ट की तार गिरने से कई मवेशियों का जान जा चुका है उसके बाद थोड़ी सी भी बारिश हो जाने के बाद बिजली ऐसे चली जाती है जैसे कि इस पंचायत से रुठ गई हो आवेदन पत्र सौंपने के समय *जन विचार तिरबिरवां पंचायत* के सक्रिय मेंबरों ने इस मुहिम में हिस्सा लिया सामाजिक कार्यकर्ता मोहम्मद इरफान अली गुड्डू,प्रदीप कुमार शर्मा,जावेद अली ,रेयाज अली,एकरामूल हक़,बादल यादव, मो. अली, फकरुल हसन,ओमप्रकाष कुमार, संदीप कुमार,कमलावती देवी, इम्तेयाज़ आलम, सुनील कुमार एवं सैकड़ो स्थानीय व्यक्ति ।






Related News

  • 26 वर्ष की मेहनत के बाद हथुआ के समीर को मिली बीपीएससी में सफलता
  • बरौली में रक्तदान, अब एम्बुलेंस की योजना
  • गोपालगंज : जलजमाव के समस्या को ले अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल
  • एक साल का हुआ थावे का शाही पल्लवी इंटरनेशन होटल
  • सद्भावना को ले हुआ चित्रकला का प्रोग्राम
  • (सीवान) परिजनों ने हत्या का लगाया आरोप।
  • (सीवान) शहीद स्मारक स्थल आज बाजारों के नाम से बेशुमार
  • हाय रे हथुआ, ऐसी बदहाली तो पहले नहीं थी!
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com