ये क्या! गुडों के पक्ष में थानेदार, औरत का बाल पकड का घसीटा

भागलपुर. जिले के बसंतपुर गांव में लोदीपुर थानेदार भारत भूषण ने नियम, मर्यादा और पुलिस मैनुअल का मजाक बना दिया। अपराधी गोलियां चला रहे थे। पूरा गांव दहशत में था, लेकिन वे गांववालों की रक्षा की बजाय बदमाशों के पक्ष में खड़े थे। घटना की सूचना मिलने के दो घंटे बाद तक वे मौके पर नहीं पहुंचे। डीएसपी की फटकार के बाद जब वे पहुंचे तो महिला पुलिस की गैर-मौजूदगी में गांव के अजय यादव की मां पर खीज निकाली। उन्होंने महिला का बाल पकड़कर घसीटा और बर्बरता से पीटा। एसएसपी मनोज कुमार ने डीएसपी को मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

मिली जानकारी के अनुसार लोदीपुर के बसंतपुर गांव में रविवार दोपहर 12.30 बजे दो टोले के विवाद में ताबड़तोड़ गोलीबारी हुई। इसमें तीन लोग जख्मी हो गए। लोदीपुर थाना वहां से मात्र आधा किलोमीटर दूर है, लेकिन सूचना के एक घंटे के बाद पहुंची। थानेदार भारत भूषण डीएसपी के डांटने पर दो घंटे बाद मौके पर पहुंचे और खीज निकालने के लिए गांव की एक महिला का बाल पकड़कर लात-घूंसे से पीट दिया। इससे माहौल और बिगड़ गया और लोग पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। किसी तरह मामले को शांत कराया गया। पुलिस ने गांव में सर्च अभियान चलाकर गोलीबारी करने के आरोप में तीन लोगों को पकड़ा, लेकिन गाजा भाग गया।
सूत्रों का कहना है कि मंडल और पासवान टोले के लोग शिव मंदिर कैंपस में शिवरात्रि मेले में हुए विवाद को सुलझाने के लिए बैठक कर रहे थे। उसी समय यादव टोला के लोगों ने गोलीबारी शुरू कर दी। इससे भगदड़ मच गई। घटना की सूचना मिलने के बाद भी लोदीपुर पुलिस समय पर गांव नहीं पहुंची। जबकि थाना वहां से मात्र आधा किमी की दूरी पर है। पुलिस के रवैये से गुस्साए ग्रामीणों ने गांव में जमकर हंगामा किया। आगजनी कर तीन जगह लोदीपुर रोड को जाम कर दिया। गोलीबारी खत्म होने के बाद जब पुलिस मौके पर पहुंची तो ग्रामीणों ने उन्हें खदेड़ दिया। ग्रामीणों का गुस्सा देख थानेदार भारत भूषण मौके पर नहीं गए। अपराधी गाजा यादव और उसके गैंग के लोग ग्रामीणों के वेष में गोलीबारी कर रहे थे। ये लोग भी बसंतपुर के रहने वाले हैं। पुलिस के समय पर नहीं पहुंचने से अपराधी गाजा और उसके समर्थकों ने कई घरों में तोड़-फोड़, मारपीट और लूटपाट की। घर में घुस कर एक युवक की जांघ में गोली मार दी। इस बीच विधि-व्यवस्था डीएसपी राजेश सिंह प्रभाकर मौके पर पहुंच गए, लेकिन थानेदार नहीं आए। डीएसपी ने फोन कर थानेदार की जमकर क्लास ली। वे जांच के क्रम में अजय यादव के घर पहुंचे। अजय की मां ने बिना महिला पुलिस के घर में घुसने का विरोध किया तो थानेदार भारत भूषण ने बाल पकड़कर उन्हें घसीटा और लात-घूसों से पिटाई कर दी।
शिवरात्रि के बाद मंदिर कैंपस में दो दिन तक मेला लगता है। इस मेले में शुक्रवार को रात्रि जागरण कार्यक्रम के बाद आर्केस्ट्रा हो रहा था। अचानक यादव टोला के लोग आ गए और मंच पर चढ़ने लगे। आयोजकों ने मना किया तो गोलीबारी करने लगे। मेले में लगे दुकान में लूटपाट की। पुलिस की कोई व्यवस्था नहीं थी। जबकि मेले से पहले ही लोदीपुर थाने में लिखित आवेदन देकर पुलिसकर्मी की मांग की गई थी। इस विवाद के बाद दो दिनी मेला एक ही दिन में खत्म हो गया। रविवार को हमलोग मंदिर कैंपस में बैठक कर रहे थे। यादव टोले के लोगों को भी इसमें बुलाया गया था। वे लोग नहीं आए। बैठक को टारगेट कर अचानक स्कूल से पास से यादव टोले के कुछ लोग गोली चलाने लगे। एक गोली मेरे फुलपैंट को चीरते हुए निकल गई, जिसमें बाल-बाल बच गया। इसके बाद बैठक में भगदड़ मच गई। दनादन गोली चल रही थी। समझ में नहीं आ रहा था कि क्या हो रहा है। तभी किराना दुकानदार लालचंद मंडल को भी गोली लग गई। पता चला कि बदमाशों ने नंदन के हाथ में गोली मार दी और चिंटू पासवान के घर में घुस कर उसे जांघ में गोली मार दी। लालचंद को ग्रामीण इलाज के लिए अस्पताल ले गए। लेकिन नंदन भय से अपने घर में घुस गया। घटना की सूचना कई बार लोदीपुर थानेदार को दी गई, लेकिन पुलिस नहीं अाई। गोलीबारी बंद हुई तो पुलिस पहुंची, लेकिन तब तक सारे अपराधी फरार हो चुके थे। पुलिस आई तो बाइक से नंदन को अस्पताल ले जाया गया।
अपराधी और उसके गैंग पर मेहरबान है पुलिस
यहां के अपराधी गाजा यादव और गैंग पर लोदीपुर पुलिस की मेहरबानी से बसंतपुर के ग्रामीण आक्रोशित हैं। गांववालों का आरोप है कि लोदीपुर थानेदार भारत भूषण गाजा और उसके गैंग से जुड़े लोगों को संरक्षण देते हैं। इस कारण 25 राउंड गोली चलने के बाद भी थानेदार खुद मौके पर समय से नहीं पहुंचे। गाजा और उसके सहयोगी लगातार मंडल और पासवान टोला में गोलीबारी कर रहे थे। लोदीपुर थानेदार भारत भूषण को कई बार फोन कर सूचना दी गई थी। एक घंटे में करीब 25 राउंड गोली अपराधियों ने चलाई। इसमें तीन लोग जख्मी हो गए। जब गोलीबारी खत्म हो गयी और अपराधी भाग गए तो लोदीपुर थाने की गश्ती दल पहुंचा। ग्रामीणों ने गश्ती दल पर ही अपनी भड़ास निकाली और पुलिसकर्मियों को खूब खरी-खोटी सुनाई।अअगांव वालों का आरोप है कि गोलीबारी में गाजा के अलावा पूर्व पंचायत प्रतिनिधि सनोज यादव, चंदन यादव, कुंदन यादव, गेड़ा यादव, बुधन, अजय, ललन, कारू, विपिन आदि शामिल थे। सनोज यादव के पास लाइसेंसी हथियार है, जिससे वह गोली चला रहा था। डीएसपी राजेश सिंह प्रभाकर गांव पहुंचे तो पीड़ित ग्रामीणों ने उन्हें लोदीपुर थानेदार और पुलिस की करतूतों की जानकारी दी। उधर, गांव के प्रकाश पासवान गोराडीह से लौट रहे थे। रास्ते में गाजा और उसके सहयोगियों ने उ‌से रोक लिया। उससे उसकी जाति पूछी गई और फिर उसे मारपीट कर अधमरा कर दिया। परिजनों ने प्रकाश को इलाज के लिए मायागंज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रकाश ने बताया कि उसे जाति लगाकर गाली और जान मारने की धमकी भी दी गई। लीबारी में जख्मी लालचंद मंडल को मायागंज अस्पताल से बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया गया है। गोली उसके जांघ में फंसी है और अत्यधिक खून निकल जाने से उसकी हालत बिगड़ते जा रही है। वहीं दो अन्य गोलीबारी में जख्मी नंदन और चिंटू पासवान का इलाज मायागंज अस्पताल में चल रहा है। चिंटू की मां ने बताया कि गोली चलने की आवाज से हमलोग घुस में कैद हो गए थे। तभी कुछ लोग आए और दरवाजे को धक्का देकर भीतर घुस गए। चिंटू ने विरोध किया तो उसे गोली मार कर जख्मी कर दिया। with thanks from Bhaskar.com






Related News

  • डीएम ने स्वीकारा मुकेश पांडे का आग्रह
  • उडान योजना की दूसरी सूची में आएगा साबेया का नाम
  • वर्षा की धमक से धधाये घूसखोर, कामचोर सहमे
  • दिवंगत महारानी की जयंती पर हथुआ महाराज ने पब्लिक को परोसा भोजन
  • गोपालगंज में ऐसा फर्जीवाडा, बाप से बडा निकला बेटा
  • गोपालगंज में पति ने खटिया के पाया से पीटकर मार डाला
  • बिहार में सपना चौधरी का डांस देखने के लिए बेकाबू हुई भीड़, भगदड़ में 1 की मौत कई घायल
  • हथुवा की बस स्टैंड नाले की समस्या को लेकर विधायक से मिले युवा
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com