गोपलगंज: हथुआ में अष्टधातु की कीमती मूर्ति चोरी

बिहार कथा न्यूज़ नेटवर्क,  हथुआ। थाने के बरीरायभान पंचायत अंतर्गत लाला के बरी गांव से अष्टधातु की एक कीमती मूर्ति चोरी हो गयी है। गांव के राधाकृष्ण मंदिर में सोमवार की देर रात चोरी की यह घटना हुई। अष्टधातु की बनी राधाकृष्ण की मूर्ति 25 किलो वजन की बतायी गयी है। इसके अलावा कृष्ण के बाल रूप की एक 5 किलो वजन की भी मूर्ति चोरी हुई है।  ग्रामीणों की माने तो मूर्ति की कीमत अंतराष्ट्रीय बाजार में एक करोड़ के करीब है। बताया जाता है कि मंगलवार की सुबह ग्रामीण नवीन कुमार श्रीवास्तव जब झाडू-पोछा लगाने मंदिर में गए तो चोरी की घटना का पता चला। चोरों ने गेट का ग्रिल तोड़ कर मूर्तियां चोरी कर ली थी। मंदिर के पुजारी ललन पांडेय रात में बगल के गांव मिर्जापुर में चले जाते हैं। घटना की सूचना पर बड़ी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ उमड़ी। लोगो ने घटना को लेकर काफी आक्रोश व्यक्त किया। मुखिया मदनलाल सिंह, ग्रामीण रघुवीर साह,राम अयोध्या सिंह,शशिकांत तिवारी,राजेश श्रीवास्तव,कृष्ण गौरव,अभिजीत आदि ने बताया कि मंदिर की स्थापना वर्ष 1925 में गांव के विंदेश्वरी प्रसाद श्रीवास्तव ने किया था। मंदिर में प्राचीन समय से ही सुबह-शाम पूजा अर्चना के साथ-साथ सालों भर छठिहार,झूलन आदि कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता रहा है। मंदिर के स्थापना की शताब्दी वर्ष 2025 में एक भव्य कार्यक्रम कराने की भी योजना ग्रामीणों की थी। घटना की सूचना पर पहुंचे जिला परिषद् अध्यक्ष मुकेश पांडेय ने मूर्ति बरामदगी की दिशा में प्रयास करने का आश्वासन ग्रामीणों को दिया। अध्यक्ष ने पुलिस अधिकारियों से बात कर त्वरित कार्रवाई की मांग की।

प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस ने शुरू की छापेमारी
मंदिर के संस्थापक के पोते विपीन बिहारी श्रीवास्तव के आवेदन पर हथुआ पुलिस ने अज्ञात चोरों पर प्राथमिकी दर्ज कर छापेमारी शुरू कर दी है। हथुआ व मीरगंज थानों की पुलिस दल-बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच कर छानबीन की। हथुआ इंस्पेक्टर ने बताया कि जल्द मामले का खुलासा कर लिया जाएगा। दो लोगो से पूछताछ की जा रही है।






Related News

  • बरौली में रक्तदान, अब एम्बुलेंस की योजना
  • गोपालगंज : जलजमाव के समस्या को ले अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल
  • एक साल का हुआ थावे का शाही पल्लवी इंटरनेशन होटल
  • सद्भावना को ले हुआ चित्रकला का प्रोग्राम
  • (सीवान) परिजनों ने हत्या का लगाया आरोप।
  • (सीवान) शहीद स्मारक स्थल आज बाजारों के नाम से बेशुमार
  • हाय रे हथुआ, ऐसी बदहाली तो पहले नहीं थी!
  • ब्राह्मणों ने कराया जिंदा लड़की का श्राद्ध
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com