साहब कि दौरे पर ही चकाचक होता है हथुआ स्टेशन का वेटिंग रूम

 यात्रियों के लिए हथुआ स्टेशन के वेटिंग रूम का उपयोग नहीं करने दिया जाता है

 पहले हमेशा रहता था बंद, अब दरवाजा टूटा है तो अंदर कुर्सियों के उपर रखी गई हैं कुर्सियां

हथुआ के वेटिंग रूम में बैठने लायक नहीं है व्यवस्था
संवाददाता
बिहार कथा। मीरगंज. गोपालगंज के मीरगंज नगर क्षेत्र का प्रमुख रेलवे स्टेशन हथुआ जंक्शन का वेटिंग पिछले कई वर्षों से उपेक्षा वह बदहाली का शिकार है. जब से इस वेटिंग रूम का पुनर्निमार्ण हुआ है, यात्रियों ने इसका सदुपयोग नहीं किया है. बाहर से आने वाले यात्री कई बार अपने परिजनों या किसी ट्रेन के इंतजार करना पडता है तो उन्हें ठीक से बैठने तक की जगह नहीं होती है. पहले तो इस वेटिंग रूम का दरवाजा हमेशा ही बंद रहता था, अब इसका दरवाजा भी गायब है. यही नहीं अंदर रखी कुर्सियां भी बेतरतीब पडी रहती है.न कभी साफ सफाई होती है और न ही कभी यात्रियों की सुविधा के लिए स्टेशन मास्टर इसकी सुध लेते हैं. यहां ट्रेन से आने जाने वाले नियमित यात्रियों का कहना है कि जब किसी साहब का दौरा होता है तो स्टेशन का वेटिंग रूम चकाचक हो जाता है, लेकिन फिर उसके बाद यह बंद रहता है. कुर्सियां धुल फांकती नजर आती है. जब कभी कोई यात्री इस संबंध में स्टेशन मास्टर से बात करते हैं तो वे कुछ संतोषजनक बात नहीं बताते हैं.






Related News

  • मीरगंज के आलम हॉस्पीटल में सैनिकों के परिजनों का होगा मुफ्त इलाज
  • हथुआ में इम्पीरियल के बच्चों ने किया आतंकवाद का पुतला दहन
  • हथुआ आ रहे हैं राज्यपाल, गोपेश्वर कॉलेज का होगा कायाकल्प
  • हथुआ में मर्डर के बाद जिन बच्चों की लाश चवर में मिली, उनके परिजनों ने जिप अध्यक्ष से लगायी न्याय की गुहार
  • शादी के बाद पति गया अरब, बार बार बुलाने पर भी नहीं आए तो फांसी पर झूली
  • आदर्श ग्राम पंचायत बनाने का मिशन में तिरबिरवां के युवा
  • यह है गोपालगंज में किडनैप के बाद एक करोड की फिरौती मांगने और छात्र के मर्डर की असली कहानी
  • एक हप्ते से गायब बच्चे पुलिस खोजने में नाकाम, पोखरा में उतराई दोनों की लाश
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com