…और लालू के गांव फुलवरिया में रिहाई के लिए होता रहा हवन

गोपालगंज। कोर्ट का फैसला आने से पूर्व राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की रिहाई की कामना के साथ शनिवार को सुबह से ही उनके पैतृक गांव फुलवरिया में हवन-पूजन होता रहा। मंदिर के गेट पर उनके भतीजे नीतीश कुमार यादव की मौजूदगी में हवन हुआ। हवन के दौरान मंदिर के पुजारी दया शंकर पाण्डेय व हीरामन दास माला पर जाप कर रहे थे।
ग्रामीण और लालू के रिश्तदारों ने भी फुलवरिया दुर्गा मंदिर में पूजा-अर्चना कर लालू के बरी होने की कामना की। इस मंदिर का निर्माण भी पूर्व मुख्यमंत्री और तत्कालीन रेलमंत्री लालू प्रसाद यादव ने खुद करवाया था।
लालू जी कभी घोटाला नहीं कर सकते हैं। उन्होंने गरीबों को हक व मान-सम्मान दिलवाया है। कोर्ट के फैसले से वे आहत हैं। ऊपरी अदालत से दूध का दूध व पानी का पानी हो जाएगा। सत्य परेशान हो सकता है,पराजित नहीं। फुलवरिया गांव के वीरन चौधरी फैसला आने के बाद अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भावुक हो उठे। गांव के लोगों में कोर्ट से लालू को दोषी करार दिए जाने के बाद मायूसी दिख रही थी।
गांव के किसान राज वल्लभ पाण्डेय ने कहा कि कानूनी प्रक्रिया जटिल होती है। लेकिन सत्य को कोई झूठला नहीं सकता। गांव की महिला रीता देवी ने कहा कि लालू प्रसाद यादव ने इलाके का विकास किया है। वे गरीबों के लिए सोचते हैं। गरीबों की आवाज उठाने वाले कभी घोटाला नहीं कर सकते। वे खुद गरीब परिवार से आते हैं। आने वाले दिनों में स्पष्ट हो जाएगा। साभार ​हिंदुस्तान






Related News

  • गोपालगंज के युवक की सउदी अरब में मौत, डेथबॉडी वापसी में मदद के लिए आगे आए मुकेश पांडे
  • हथुआ अस्पताल के लिए तेजप्रताप के कामों को भुना रही भाजपा
  • गोपालगंज में सम्मेलन के नाम इस तरहसे अतिपिछडों को ठग रही है जदयू!
  • छपरा में रूह कंपाने वाली हैवानियत, 15 साल की लडकी पर तेजाब फेंक, गला काटा, आंखें निकाली
  • गोपालगंज में एक दलित की प्रताडना के बाद भी कंप्रोमाइज की कहानी अजात शत्रु की जुबानी
  • गोपालगंज के डीएम को भेजा गंदा मैसेज, पूर्व डीएम राहुल कुमार को भी फोन पर दी गई थी गाली!
  • हथुआ अस्पताल में बिना आॅक्सिजन मास्क के ही गंभीर घायल को किया रेफर
  • जयंती पर याद किए गए पूर्व पीएम वीपी सिंह
  • Comments are Closed

    Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com