सासामुसा शुगर मिल में ब्वॉयलर फटने से तीन यादव समेत 5 की मौत, 10 झुलसे, बवाल से बचने सीएम ने किया 4-4 लाख मुआवजे का ऐलान

बिहार कथा.गोपालगंज.गोपालगंज के सासमुसा चीनी मिल में बॉयलर फटने से पांच मजदूरों की मौत हो चुकी है और 10 लोग झुलस गए हैं, उन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस हादसे में घायलों की संख्या बढ़ सकती है। पुलिस ने शुगर मिल के मालिक को गिरफ्तार कर लिया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस हादसे पर दुख जताया है। साथ ही इसको लेकर जनता में आक्रोश की संभावना को देखते हुए घटना में मरे लोगों के परिजनों को 4-4 लाख का अनुदान देने की घोषणा की है। गन्ना उद्योग और श्रम संसाधन विभाग के प्रधान सचिव को घटना स्थल पर जाकर जांच करने का आदेश दिया। मरने वालों में तीन यादव समेत अन्य पिछडा वर्ग के पांच लोग हैं. घटना के तुरंत बाद चीनी मिल के मालिक और उसके दोनों बेटों को गिरफ्तार कर लिया गया है. दोनों कलकता के रहने वाले बताये जाते हैं.  गुस्से में मजदूर के परिजनों ने मिल के बाहरी परिसर के साथ-साथ मिल मालिक और मिल की गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया. भीड़ के आक्रोश को देखते हुए पुलिस को भी पीछे हटना पड़ा.  जख्मी लोगों को गंभीर हालत में गोपालगंज सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया है। 3 लोगों को पीएमसीएच के लिए रेफर किया गया है। सदर अस्पताल में भर्ती सभी घायलों की हालत नाजुक बनी हुई है। जानकारी के मुताबिक यह घटना बीती रात करीब 12 बजे की है। गन्ने की पेराई के दौरान बॉयलर टैंक में जाने वाली पाइप फट गई। पाइप के फटने से धमाका हुआ । जिससे टैंक के समीप काम कर कर रहे कई मज़दूर चपेट में आ गए ।
घटनास्थल पर कई थानों की पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी कैम्प कर रहे हैं। राहत व बचाव कार्य चलाया जा रहा है। जो जानकारी सामने अा रही है उसके मुताबिक जिस समय बॉयलर फटा उस समय 100 से ज्यादा कर्मचारी मिल में काम कर रहे थे। अभी भी कई मजदूरों अंदर फंसे हो सकते हैं। मिल में मौजूद कर्मचारियों का कहना है कि ओवर हीटिंग की वजह से यह ब्लास्ट हुआ है। बॉयलर का निरिक्षण लंबे समय से नहीं हुआ था। बिना जांच पड़ताल के इसे लगातार चलाया जा रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया है कि बॉयलर के पास काम कर रहे मजदूर ब्लास्ट के बाद बुरी तरह जल गए।
बॉयलर बहुत पुराना था
स्थानीय लोगों के मुताबिक चीनी मिल का बॉयलर बहुत पुराना है। रात को अचानक बॉयलर ज्यादा गर्म हो गया और फट गया। लोगों ने कहा कि चीनी मिल के मालिक ने चीनी मिल में किसी तरह की सुरक्षा व्यवस्था नहीं की है।
सासामुसा चीनी मिल हादसा
मृतकों की सूची
1. विक्रमा यादव, खजूरी पूरब टोला-कुचायकोट (गोपालगंज)
2. कृपा यादव, खजूरी पूरब टोला(गोपालगंज)
3.कन्हैया यादव, बारी खजूरी (गोपालगंज)
4.शमसुद्दीन , पडरौना(उत्तरप्रदेश)
5.अर्जुन प्रसाद ,खजूरी पूरब टोला (गोपालगंज)






Related News

  • बीच राह में फंसी हथुआ-भटनी रेलखंड परियोजना
  • मुकेश पांडेय के हाथों रिमॉडलिंग हेल्थ सेंटर जनता को समर्पित
  • हमरा मालिक के बोलवा दी ए एमपी साहेब, राउर जीनगी भर एहसान ना भूलेम !
  • मुखिया पति के मर्डर पर आक्रोशित हुए हथुआ प्रखंड के जनप्रतिनिधि
  • गोपालगंज : तीन साल पहले भी उपेंद्र सिंह को मारी थी गोली, तब बच गए थे
  • बेगूसराय में एससी एसटी कानून के खिलाफत में आया सवर्ण समाज
  • गोपालगंज : बरौली कोल्ड स्टोरेज ने किसानों को दिया धोखा
  • छठिहार महोत्सव : कान्हा की भक्ति में डूबा हथुआ शहर
  • Share
    Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com